अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कचचास्त्रो की नजर में ओबामा सभ्य और मेक्केन बुद्धू

यूबा के पूर्व साम्यवादी नेता फिदेल कास्त्रो ने अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार बराक ओबामा को उनके रिपब्लिकन प्रतिद्वंद्वी जान मैक्केन से ज्यादा समझदार बताया है लेकिन साथ ही कहा है कि वह इस मामले में तटस्थ हैं। कास्त्रो ने सरकारी मीडिया में मंगलवार को प्रकाशित अपने स्तंभ में कहा कि अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव लड़ रहे दोनों उम्मीदवारों में से किसी को भी दुनिया की सबसे विकट समस्याओं की कोई चिंता नहीं है। अमेरिका को परजीवी और लुटेरा साम्राज्य संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि व्हाइट हाउस की दौड़ में शामिल दोनों महानुभावों ने अपने चुनावी अभियान के दौरान विश्व की ज्वलंत समस्याओं पर कोई गंभीर चर्चा नहीं की। उल्लेखनीय हैं कि 82 वर्षीय कास्त्रो ने जुलाई 2006 में आंतों के आपरेशन के बाद से सार्वजनिक जीवन से किनारा कर लिया था। हालांकि सरकारी मीडिया में उनके लेख और स्तंभ नियमित रूप से प्रकाशित होते हैं। ास्त्रो ने कहा, ओबामा निसंदेह अपने रिपब्लिकन प्रतिद्वंद्वी से अधिक समझदार, सभ्य और शांति प्रकृति के हैं जबकि मैक्केन बूढे, तोंदू, असभ्य, अस्वस्थ और कम बुद्धि वाले हैं। ब्राजील के राष्ट्रपति लुईज इनाशियो लूला डी सिल्वा को लिखे पत्र को उद्धृत करते हुए उन्होंने कहा कि अगर मैक्केन जीतते हैं तो दुनिया पर युद्ध का खतरा बढ़ जाएगा। उन्होंने लिखा, मैं अमेरिकी चुनाव के बारे में तटस्थ रहा हूं। उन्होंने कहा कि 46 वर्ष पहले क्यूबा पर आर्थिक प्रतिबंध लगाने वाले अमरीका में नस्लभेद का एक लंबा इतिहास रहा है। इसलिए राष्ट्रपति चुनाव के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से ओबामा के चयन से कई लोगों को हैरानी हुई क्योंकि वह अश्वेत हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कचचास्त्रो की नजर में ओबामा सभ्य और मेक्केन बुद्धू