अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आंगनबाड़ी सेविकाओं का मानदेय बढ़ा

चुनावी महासमर में कूदने के पहले केन्द्र सरकार ने एक और लोक ‘लुभावन आईटम’ जनता के बीच लॉंच कर दिया है। कर्मचारियों, किसानों और युवकों के बाद लाभ का यह ‘आईटम’ खासकर महिलाओं के लिए है।ड्ढr ड्ढr सरकार ने आंगनबाड़ी सेविका और सहायिकाओं का मानदेय लगभग डय़ोढ़ा कर दिया है। राज्य के 80 हाार आंगनबाड़ी केन्द्रों में काम करने वाली लगभग डेढ़ लाख से अधिक महिलाओं को इसका लाभ मिलेगा। बढ़ा हुआ मानदेय एक अप्रैल 2008 से ही दिया जायेगा। राज्य सरकार ने भी बढ़े हुए मानदेय के अनुसार भुगतान की तैयारी शुरू कर दी है। समाज कल्याण विभाग के प्रधान सचिव विजय प्रकाश ने बताया कि जल्द ही नये मानदेय का भुगतान कर दिया जायेगा। सरकार एरियर के भुगतान के लिए भी बजट केन्द्र के पास भेजेगी। यह भी प्रावधान किया गया है कि उन सेविका और सहायिकाओं से मूल काम के अलावा दूसरा काम लेने पर अलग से भुगतान किया जायेगा। लेकिन नया काम उनके मूल काम के नेचर से मिलता जुलता हो और कार्य क्षेत्र के बाहर नहीं हो।ड्ढr ड्ढr सरकार ने आंगनबाड़ी सेविकाओं के मानदेय में पांच सौ रुपये की वृद्धि की है। मिनी आंगनबाड़ी केन्द्रों की सेविका और सहायिकाओं के मानदेय में 250 रुपये का क्षाफा हुआ है। नन मैट्रिक सेविकाओं को अबी जगह 1438 रुपये प्रतिमाह भुगतान किये जायेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आंगनबाड़ी सेविकाओं का मानदेय बढ़ा