DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईआरएस-2008: बिहार में हिन्दुस्तान के पाठक तेजी से बढ़े

ओबामा की फतह के साथ-साथ एक और जीत की खबर। आपके पसंदीदा हिन्दुस्तान के सिर पर देश का सबसे तेज रफ्तार से बढ़ता दैनिक अखबार होने का सेहरा बंध गया है। इंडियन रीडरशिप सव्रे (आईआरएस) के वर्ष 2008 के दूसर राउंड के आंकड़ों के मुताबिक पिछले एक वर्ष में हिन्दुस्तान की कुल पाठक संख्या (टोटल रीडरशिप) में 13 फीसदी वृद्धि दर्ज की गई है। इस अवधि में हिन्दुस्तान की दैनिक पाठक संख्या (एवरा इश्यू रीडरशिप) में भी 8 फीसदी की प्रभावशाली बढ़त दर्ज हुई। इस तरह देश के शीर्ष 10 अखबारों में हिन्दुस्तान की पाठक संख्या सबसे तेज गति से बढ़ रही है। वास्तव में, आईआरएस के ये ताजा आंकड़े देश के अलग-अलग हिस्सों में हिन्दुस्तान की बढ़ती लोकप्रियता की पिछले साल वाली कहानी ही दोहरा रहे हैं। एक बानगी:ड्ढr बिहार: परचम हमेशा की तरह बुलंद और लहराता हुआ। वहां दैनिक जागरण के मुकाबले हिन्दुस्तान की पाठक संख्या 1.8 गुना ज्यादा है। प्रतिद्वंद्वियों को झटका देने के साथ उनकी मौजूदगी को लगभग अप्रासंगिक बना डालने वाली मजबूती।ड्ढr ड्ढr दिल्ली-एनसीआर: दिन-ब-दिन मजबूत होती स्थिति। पिछले एक साल में दिल्ली और एनसीआर में हिन्दुस्तान की कुल पाठक संख्या और दैनिक पाठक संख्या दोनों लगभग 40 प्रतिशत की शानदार रफ्तार से बढ़ीं। आंकड़े बता रहे हैं कि मार्केट लीडर नवभारत टाइम्स की पाठक संख्या इस अवधि में घटी। नतीजतन अब न सिर्फ हिन्दुस्तान दिल्ली-एनसीआर में नंबर दो की मजबूत पोजीशन में है, बल्कि वह नवभारत टाइम्स के बहुत करीब भी पहुंच गया है।ड्ढr झारखंड: लीडरशिप के अपने ही रिकार्ड को सुधारने का सिलसिला जारी। दैनिक पाठक संख्या और कुल पाठक संख्या दोनों में जबर्दस्त बढ़त। प्रभात खबर के मुकाबले 33 फीसदी ज्यादा दैनिक प्रसार। कुल पाठक संख्या की कसौटी पर तो प्रभात खबर तीसर नंबर पर ( हिन्दुस्तान और दैनिक जागरण के बाद) खिसक गया है।ड्ढr ड्ढr उप्र और उत्तराखंड: आठ प्रतिशत की वृद्धि दर के साथ उत्तराखंड में हिन्दुस्तान का विस्तार लगातार जारी है और यह आंकड़ा तब है जबकि उसमें देहरादून और मेरठ से शुरू नए संस्करणों के आंकड़े शामिल नहीं। जून 08 में देहरादून और अक्टूबर 08 में मेरठ संस्करण शुरू हो चुका है। अगले 3 माह में इलाहाबाद में भी हिन्दुस्तान का प्रकाशन होना है।ड्ढr ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आईआरएस-2008: बिहार में हिन्दुस्तान के पाठक तेजी से बढ़े