अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वेटिकन से तनावपूर्ण हो सकते हैं आेबामा के रिश्ते

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति बराक आेबामा और वेटिकन के बीच रिश्ते तनावपूर्ण हो सकते हैं। दरअसल गर्भपात समर्थक अमेरिका की डेमोक्रेटिक पार्टी को वेटिकन के एक अधिकारी ने दो महीने पहले ‘मौत की पार्टी’ करार दिया था। लेकिन उनके शब्द अमेरिका के उन करोड़ों कैथोलिकों पर कोई असर डालने में नाकाम रहे, जिन्होंने मंगलवार को हुए राष्ट्रपति पद के चुनाव में डेमोक्रेट उम्मीदवार आेबामा के पक्ष में मतदान किया। अमेरिका में 25 प्रतिशत यानि तीन करोड़ मतदाता कैथोलिक हैं। मतदान के तुरंत बाद हुए सर्वेक्षणों के अनुसार इनमें से 54 प्रतिशत लोगों ने आेबामा के पक्ष में और 46 प्रतिशत ने उनके रिपब्लिकन प्रतिद्वंद्वी जान मैक्केन के पक्ष में मतदान किया। पूर्व राष्ट्रपति बिल क्िलंटन के बाद वेटिकन को एक बार फिर गर्भपात समर्थक अमेरिकी प्रशासन से दो-चार होना पड़ेगा। गर्भपात और जनसंख्या नियंत्रण के मुद्दों पर क्िलंटन और वेटिकन में भारी मतभेद थे। अगर आेबामा गर्भपात संबंधी मौजूदा कानूनों में ढ़ील देते हैं तो वेटिकन के साथ रिश्तों में खटास आ सकती है। हालांकि अधिकतर कैथोलिक मौजूदा नियमों को बनाए रखने के पक्ष में हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: वेटिकन से तनावपूर्ण हो सकते हैं आेबामा के रिश्ते