अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेंचुरी नम्बर 40

सचिन तेंदुलकर ने अपना चालीसवां शतक लगाकर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे और अंतिम टेस्ट मैच के पहले दिन की सुर्खिया चुरा लीं। वैसे यह प्रिंस ऑफ कोलकाता सौरभ गांगुली का अंतिम और हैदराबाद के स्टाइलिश बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण का सौवां मैच है। लेकिन चौथे टेस्ट के पहले दिन का आकर्षण मास्टर ब्लास्टर की शतकीय पारी रही।ड्ढr ड्ढr वीसीए के नए स्टेडियम में सचिन ने 10रन बनाकर भारत को ड्राइविंग सीट पर पहुंचा दिया है। स्टम्प्स के समय तक मेजबान टीम ने पांच विकेट पर 311 रन बनाकर अपनी स्थिति मजबूत कर ली। भारत को तीन सौ के पार पहुंचाने में विरंदर सहवाग और लक्ष्मण का भी महत्वपूर्ण योगदान रहा। सहवाग ने 66 और लक्ष्मण ने 64 रन की पारी खेली। सचिन और लक्ष्मण के बीच चौथे विकेट पर 146 रन की उपयोगी साझेदारी हुई। इससे पहले भारत ने 2गेंदों के अंतराल में तीन विकेट गंवा दिए थे और उसकी हालत नाजुक नजर आने लगी थी। सचिन का यह दुनिया की नंबर एक टीम आस्ट्रेलिया के खिलाफ दसवां शतक है।ड्ढr ड्ढr पिछला शतक भी उन्होंने ऑसीज के खिलाफ एडीलेड में बनाया था। पहले दिन के खेल के बाद सचिन ने कहा कि मैं रिकॉर्ड के लिए नहीं बल्कि टीम के लिए खेलता हूं। उन्होंने कहा कि शतक जमाना एक सुखद अहसास है लेकिन तब खुशी दोगुनी हो जाती है जब टीम को इसकी जरूरत होती है। इस मैच में भावनाएं हावी रहने के सवाल पर उन्होंने कहा कि एक बार मैदान में पहुंचने के बाद सारा फोकस सिर्फ खेल पर होता है। उन्होंने कहा कि इस मैच में अभी क्रिकेट बचा हुआ है। चार दिन का खेल बाकी है, सामने मजबूत प्रतिद्वंद्वी है। जीतने के लिए भारत को काफी जोर लगाना होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सेंचुरी नम्बर 40