DA Image
24 फरवरी, 2020|12:42|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तालिबान ने दी कलम व जुबान बंद रखने की धमकी

पाकिस्तान में तालिबान ने मीडिया को धमकी दी है कि अगर उनके खिलाफ कोई भी रिपोर्ट प्रकाशित अथवा प्रसारित की गई तो इसका अंजाम बुरा होगा। समाचार एजेंसी ‘ऑनलाइन’ ने खबर दी है कि समाचार चैनलों और समाचार पत्रों के कार्यालयों के बाहर तालिबान की ओर से पोस्टर चिपकाएं गए हैं, जिनमें कहा गया है कि मीडिया तालिबानियों के बारे में नाकारात्मक रिपोर्ट पेश कर रहा है। पोस्टरों में कहा गया है, ‘‘जो पत्रकार तालिबान के खिलाफ मुहिम शुरू कर रहे हैं वे अपनी हरकत से बाज आएं नहीं तो अंजाम बुरा होगा। अगर मीडिया तालिबान को लेकर अपना रवैया नहीं बदलता है तो पत्रकारों के खिलाफ शरिया कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी।’’ इस्लामाबाद प्रेस क्लब के तारिक चौधरी ने तालिबान की धमकी पर अफसोस जताया है। उन्होंने कहा कि पत्रकार समुदाय इस धमकी के मद्देनजर एक रणनीति बनाएगा। उधर, इस्लामाबाद स्वतंत्र पत्रकार संघ के शहरयार खान ने कहा कि मीडिया आजाद होकर काम कर रही है और कोई भी मीडिया से उसके अधिकार नहीं छीन सकता।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: तालिबान ने दी कलम व जुबान बंद रखने की धमकी