अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेना के दो और अफसर संदेह के घेरे में

मालेगांव विस्फोट मामले में सेना के दो और कर्नलों और एक मेजर के संदेह के घेर में आने की अटकलों के बीच सीबीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मामले की जांच कर रहे महाराष्ट्र के आतंकवादी निरोधक दस्ते (एटीएस) के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की। इधर एक टीवी चैनल के मुताबिक, एटीएस की सेना में कुछ और कार्यरत अधिकारियों से पूछताछ की योजना है। इन अधिकारियों का नाम विस्फोट के मास्टर माइंड लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीकांत पुरोहित से पूछताछ के दौरान सामने आया है। चैनल के मुताबिक, किसी आतंकी हमले के सिलसिले में गिरफ्तार सेना के किसी पहले अधिकारी पुरोहित ने यह बात कबूल की है कि छह लोगों की जान लेनेवाले विस्फोट के सूत्रधार वही थे। हालांकि एटीएस सूत्रों ने इस बात का खंडन किया और केवल इतना ही कहा कि पुरोहित से पूछताछ जारी है। एटीएस सूत्रों ने यह भी कहा कि उनकी ओर से तीन अन्य अधिकारियों से पूछताछ की अनुमति देने के लिए सेना को कोई पत्र नहीं लिखा गया है। दिल्ली से सीबीआई के संयुक्त निदेशक स्तर के अधिकारी ने एटीएस अधिकारियों से मुलाकात के अलावा विस्फोट के सिलसिले में पकड़े गए कुछ आरोपियों से भी बातचीत की। इस बीच, सैन्य अधिकारियों की धमाकों में संलिप्तता के आरोपों से पहले से ही परशान रक्षा मंत्री एके एंटनी ने भरोसा दिलाया है कि सेना, केन्द्र सरकार और रक्षा मंत्रालय सभी इस मामले में दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के लिए कृत संकल्प हैं। रक्षा मंत्री ने कहा है कि जांच एजेंसियों की रिपोर्ट मिलने के बाद हम मामले की तह तक जाएंगे। सेना जांच एजेंसियों की कदम-कदम पर पूरी सहायता कर रही है। हम सभी को बस महाराष्ट्र पुलिस की जाँच रिपोर्ट का इंतजार है। इधर, पकड़े गए लोगों की कानूनी मदद करने के लिए हिन्दूवादी संगठन एकाुट होने लगे हैं। अभिनव भारत और हिन्दू महासभा की हिमानी सावरकर के मुताबिक एक निजी बैंक में एकाउंट खोला जा चुका है। इसमें जमा पैसे से धमाकों के आरोपियों को कानूनी मदद दी जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सेना के दो और अफसर संदेह के घेरे में