अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चाद-यू के इस्तीफे, लालू का दांव

चाहें तो इसे कह सकते हैं लालू यादव का दांव। महाराष्ट्र में उत्तर भारतीयों पर हो रहे हमले के खिलाफ जेडी (यू) के सभी पांच सांसदों ने शुक्रवार को लोकसभा से इस्तीफा दे दिया। ये सांसद हैं: जॉर्ज फर्नांडीस, पार्टी के बिहार अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ लल्लन सिंह, संसदीय दल के नेता प्रभुनाथ सिंह, श्रीमती मीना सिंह और कैलाश बैठा। लेकिन रल मंत्री लालू प्रसाद यादव का कहना है कि सिर्फ लोकसभा सदस्यों के इस्तीफे क्यों हुए हैं, अगर नीतीश कुमार मुख्यमंत्री-पद से और जेडी (यू) के सभी राज्यसभा, विधानसभा और विधान परिषद सदस्य इस्तीफा दे दें तो राष्ट्रीय जनता दल भी उनका साथ देगा। बिहार की राजनीति की दृष्टि से इस्तीफा प्रकरण दिलचस्प हो गया है। राहुल राज को पुलिस ने मुंबई में मार गिराया तो राज ठाकर मुद्दे पर केंद्र सरकार, खास तौर से लालू और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान को घेरने के ख्याल से जेडी (यू) ने घोषणा की कि उसके सभी लोकसभा सदस्य इस्तीफा दे देंगे। इस पहल से लालू शुरू में तो अचकचाए लेकिन उन्होंने अपनी पार्टी के सभी सांसदों, विधानसभा सदस्यों और विधान परिषद सदस्यों से इस्तीफे मांग लिए। लगभीग सभी नेताओं के इस्तीफे लालू के पास पहुंच भी चुके हैं। लोकसभा अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी अस्वस्थता के कारण अस्पताल में भर्ती हैं इसलिए जेडी (यू) के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष जॉर्ज फर्नांडीस के नेतृत्व में पार्टी के सभी पांच लोकसभा सदस्यों ने अपने इस्तीफे लोकसभा महासचिव पीडी आचारी को दिए। चटर्ाी के अस्पताल से लौटने पर इन इस्तीफों के बार में कोई निर्णय लिया जाएगा। रल मंत्री लालू ने ने इन इस्तीफों को ड्रामा करार दिया है। उन्होंने आरोप लगाया कि अपने चंद सांसदों से इस्तीफा दिलवाने की घोषणा करवाकर बिहारी नेताओं एवं दलों की एकता को नीतीश ने ही खंडित किया है। उन्हें पूरी उम्मीद है कि नीतीश उनके इस आग्रह को स्वीकार करंगे तथा एकसाथ इस्तीफा देंगे। नीतीश के साथ सत्ता में भागीदारी कर रही भाजपा भी इन इस्तीफों के बाद दुविधा में है। पार्टी ने इस इस फैसले को एकतरफा करार दिया है। भाजपा प्रवक्ता राजीव प्रताप रूड़ी ने कहा कि इस मामले में हमें विश्वास में नहीं लिया गया। प्रवक्ता ने कहा कि उत्तर भारतीयों पर असम में हमले हो रहे हैं तो क्या वहां के सांसदों को भी इस्तीफा दे देना चाहिए? उन्होंने कहा कि आखिर कितने सांसद इस्तीफा देंगे। उधर, केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने भी जेडी (यू) सांसदों के इस्तीफे को नौटंकी बताते हुए कहा कि इस्तीफा देना किसी समस्या का समाधान नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चाद-यू के इस्तीफे, लालू का दांव