DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाना आसान नहीं : आेबामा

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति बराक आेबामा ने कहा है कि देश की अर्थव्यवस्था नाजुक दौर से गुजर रही है और इसका समाधान जल्द या आसान नहीं है। राष्ट्रपति चुने जाने के बाद शुक्रवार को अपने पहले संवाददाता सम्मेलन में आेबामा ने कहा कि हम अपनी जिंदगी की सबसे बड़ी आर्थिक चुनौती का सामना कर रहे हैं और इसके समाधान के लिए जल्द जुट ही जाएंगे। आेबामा ने अर्थव्यवस्था में नीतिगत बदलाव के भी संकेत दिए। हालांकि उन्होंने स्पष्ट किया कि उनका कामकाज और दखल जनवरी में राष्ट्रपति का पद संभालने के बाद ही शुरू हो सकेगा। उन्होंने कहा कि मौजूदा आर्थिक संकट से उबरना न तो आसान है और नहीं इसे बहुत जल्द निपटा जा सकता है। लेकिन मुझे अमेरिका पर विश्वास है कि हम ऐसा कर पाने में सक्षम होंगे। आेबामा ने कहा कि अभी तक हम अमेरिकी इतिहास के सबसे बड़े चुनावी कार्यक्रम में व्यस्त थे, लेकिन अब वक्त राजनीति से ऊपर उठकर कुछ कर दिखाने का है। उन्होंने कहा कि देश के मध्यमवर्ग की स्थिति चिंताजनक बनी हुई है और इसे मदद की जरूरत है। हमें इसके लिए आगे आना होगा। हालांकि आेबामा ने कहा कि उन्हें ईरान के नेताआें के साथ सीधी बातचीत से कोई गुरेज नहीं है, लेकिन तेहरान को आतंकवादी संगठनों को मदद देने पर रोक लगाना होगा। पत्रकारों के एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि वह अहमदीनेजाद की आेर से भेजे गए बधाई संदेश का अध्ययन करने के बाद ही उसका उचित तरीके से जवाब देंगे। काबिले गौर है कि अमेरिका ने ईरान में हुई इस्लामिक क्रांति के बाद उससे राजनयिक संबंध तोड़ लिए थे। दोनों देशों में बीच कई मुद्दों को लेकर तनातनी चलती रहती है। अमेरिका ने ईरान को ‘दुष्ट देशों’ की सूची में डाल रखा है। अमेरिका का आरोप है कि ईरान गुपचुप तरीके से परमाणु हथियार विकसित कर रहा है, जबकि ईरान का कहना है कि उसका परमाणु कार्यक्रम शांतिपूर्ण उद्देश्यों के लिए है। आेबामा ने बताया कि उनकी निवर्तमान राष्ट्रपति जॉर्ज बुश से बातचीत हुई है और उनके साथ देश के मौजूदा आर्थिक हालात पर विचार-विमर्श हुआ। आगामी सोमवार को दोनों नेताआें की मुलाकात हो रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नाजुक दौर में है अर्थव्यवस्था : ओबामा