DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दहशतगर्दी के खिलाफ लामबंद हुए उलेमा

आन्ध्र प्रदेश की राजधानी हैदराबाद में जमीयत उलेमा ए हिंद का 2वां राष्ट्रीय अधिवेशन शनिवार की सुबह शुरू हो गया। दो दिवसीय अधिवेशन यहां जमीयत नगर में उत्तर प्रदेश के देवबंद स्थित दारुल उलूम में रदीस मौलाना कारी सईद मोहम्मद उस्मान की अध्यक्षता में शुरू हुआ। इसमें देशभर से आए जमीयत के करीब छह हजार प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं। सूत्रों के अनुसार जमीयत की इस महत्वपूर्ण बैठक में दारुल उलूम के दहशतगर्दी के खिलाफ पहले जारी किए गए फतवे को दोहराया जाएगा और कार्यकारिणी उस पर मोहर लगाएगी। इसके अलावा सरकार से सच्चर समिति और रंगनाथ मिश्र आयोग की सिफारिशों को लागू करने जनसंख्या के हिसाब से मुसलमानों को सरकारी नौकरियों में आरक्षण देने तथा सांप्रदायिक हिंसा को रोकने के लिए कानून बनाने की मांग की जाएगी। साथ ही फिलीस्तीन पर इजरायल के जुल्म, अमेरिका की अफगानिस्तान तथा ईराक में चल रही कार्रवाइयों पर भी इस बैठक में चर्चा होगी। इस अधिवेशन में दारुल उलूम निदेशक मौलानामगरूब उर रहमान जमीयत के अमीर मौलाना जमालुद्दीन उमरी, सचिव मौलाना रफीक कासमी, राज्यसभा संसद मौलाना सईद महमूद मदनी, महासचिव मौलाना हमीमुद्दीन एवं उत्तर प्रदेश आदि राज्यों से विशिष्ट प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दहशतगर्दी के खिलाफ लामबंद हुए उलेमा