अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्यसभा सीट पर सपा व कांग्रेस में सहमति

समाजवादी पार्टी और कांग्रेस में राज्यसभा की एक सीट पर मोहम्मद अदीब को संयुक्त उम्मीदवार के तौर पर खड़ा करने पर सहमति बन गई है। वे सोमवार को नामांकन दाखिल करने के आखिरी दिन पर्चा भरंेगे। उनके बतौर निर्दलीय पर्चा भरने की संभावना है। कांग्रेस और सपा दोनों ओर के विधायक प्रस्तावक होंगे। राज्यसभा की दसवीं सीट पर सपा -कांग्रेस का संयुक्त प्रत्याशी हो जाने से अब सभी दस सीटों पर निर्विरोध चुनाव होने के आसार हैं। बसपा छह और सपा दो प्रत्याशियों का नामांकन पहले ही करवा चुकी हैं। भाजपा की प्रत्याशी कुसुम राय सोमवार को पर्चा भरंगी। हालांकि सपा और न ही कांग्रेस ने अधिकृत तौर पर मोहम्मद अदीब को प्रत्याशी बनाने की पुष्टि की है। लेकिन समझा जा रहा है कि दोनों पार्टियों के किसी नेता को टिकट देने पर दोनों ओर हो रही दिक्कतों के मद्देनजर बीच का रास्ता निकाला गया है। एएमयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष मोहम्मद अदीब पहले कांग्रेस में थे। सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल के वे खासे करीबी माने जाते हैं। कुछ महीने पहले उन्होंने कांग्रेस छोड़ दी। बटला हाउस मुठभेड़ के मसले पर वे सपा के करीब आए। मुलायम सिंह यादव और अमर सिंह से बीते दिनों उनकी मुलाकात भी हुई थी। बताते हैं कि दोनों ओर के वरिष्ठ नेताओं से पहचान और अलीगढ़ की पृष्ठभूमि ने उन्हें टिकट दिलाने में अहम भूमिका अदा की। सपा शुरू से किसी मुस्लिम को उतारने की वकालत कर रही थी। उसने अपनी ओर से अबू आसिम आजमी के नाम का प्रस्ताव कांग्रेस नेतृत्व से किया था। जबकि कांग्रेस की ओर से रीता बहुगुणा जोशी, प्रमोद तिवारी, सलमान खुर्शीद और देवेन्द्र द्विवेदी सरीखे नाम थे। एसे में बीच का रास्ता निकालने के लिए मोहम्मद अदीब के नाम पर दोनों ओर के नेतृत्व को दिक्कत नहीं हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राज्यसभा सीट पर सपा व कांग्रेस में सहमति