DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीटरसन के नाबाद शतक ने उड़ाया चार्जर्स का फ्यूज

पीटरसन के नाबाद शतक ने उड़ाया चार्जर्स का फ्यूज

टी20 में दुनिया के नंबर एक बल्लेबाज केविन पीटरसन (नाबाद 103) की नौ छक्कों से सजी विस्फोटक पारी के दम पर दिल्ली डेयरडेविल्स ने फिरोजशाह कोटला मैदान में एक बार अपनी दबंगई साबित करते हुए डेक्कन चार्जर्स हैदराबाद को आईपीएल 5 मैच में पांच विकेट से पीटकर टूर्नामेंट में चौथी जीत दर्ज करते हुए शीर्ष स्थान हासिल कर लिया।

दिल्ली के सामने चार्जर्स के आठ विकेट पर 157 रन के स्कोर की कड़ी चुनौती थी। दिल्ली अपने कप्तान वीरेन्द्र सहवाग और स्टार बल्लेबाज माहेला जयवर्धने के जल्दी आउट होने से दबाव में आ गई थी लेकिन पीटरसन ने चौथे ओवर की पहली गेंद पर मिले जीवनदान का भरपूर फायदा उठाते हुए आईपीएल पांच का दूसरा शतक ठोका और दिल्ली को 20वें ओवर की पहली गेंद पर जीत दिला दी। दिल्ली ने 19.1 ओवर में पांच विकेट पर 162 रन बनाए।

इंग्लैंड के पीटरसन ने 64 गेंदों पर छह चौकों और नौ गगनचुंबी छक्कों की मदद से नाबाद 103 रन की मैच विजई पारी खेली जिसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया। पीटरसन ने योगेश नागर (नाबाद 23) के साथ छठे विकेट की अविजित मैच विजयी साझेदारी में 48 रन जोडे़।

दिल्ली की टूर्नामेंट में पांच मैचों में यह चौथी जीत है जबकि चार्जर्स लगातार चौथी हार झेलकर आईपीएल पांच में अब तक अपना जीत का खाता नहीं खोल पाए हैं।

पीटरसन जैसे धुरंधर बल्लेबाज का कैच छोड़ना कितना घातक साबित हो सकता है इसका अहसास चार्जर्स के कप्तान कुमार संगकारा और कैच छोड़ने वाले भरत चिप्ली को मैच के बाद हो गया होगा। दिल्ली की शुरुआत लड़खड़ाती हुई थी और चौथे ओवर में डेल स्टेन की पहली गेंद पर पीटरसन का कैच चिप्ली ने टपका दिया। यह कैच छोड़ना अंततः चार्जर्स को इतना महंगा साबित हुआ कि उसका फ्यूज ही उड़ गया।

पीटरसन ने इस जीवनदान का भरपूर फायदा उठाते हुए आईपीएल पांच में एक पारी में सर्वाधिक नौ छक्के मारने का रिकार्ड बना दिया। उन्होंने बेंगलूर के क्रिस गेल के आठ छक्कों का रिकार्ड तोड़ा। पीटरसन ने लेग स्पिनर अमित मिश्रा की गेंदों पर तीन छक्के ठोके। उन्होंने जेपी डुमिनी की गेंदों पर लगातार तीन छक्के ठोके। उन्होंने वीर प्रताप सिंह पर एक छक्का. डेनियल क्रिस्टियन की गेंद पर एक छक्का और अंकित शर्मा की गेंद पर एक छक्का मारा।

इंग्लिश बल्लेबाज ने 20वें ओवर की पहली गेंद पर अंकित को सीधे छक्का मारा और आईपीएल में अपना पहला शतक पूरा कर लिया। पीटरसन की इस पारी की बदौलत की दिल्ली जीत हासिल कर सकी वर्ना उसके तीन विकेट 23 रन पर,  चार विकेट 65 रन पर और पांच विकेट 114 रन पर गिर चुके थे।

नमन ओझा एक रन बनाकर पहले ओवर में आउट हुए जबकि सहवाग (7) पीटरसन को जीवनदान मिलने के बाद अगली ही गेंद में डेनियल क्रिस्टियन को कैच थमा बैठे। क्रिस्टियन ने माहेला (6) को आउट किया। रोस टेलर 13 रन बनाकर आउट हुए। इरफान पठान पांच रन बनाकर स्टेन का दूसरा शिकार बने लेकिन पीटरसन को नागर के रूप में अच्छा जोड़ीदार मिला और दोनों ने दिल्ली को जीत की मंजिल पर पहुंचा दिया।

इससे पहले डेक्कन चार्जर्स ने आठ विकेट पर 157 रन बनाए। नदीम ने फिरोजशाह कोटला मैदान पर 16 रन देकर तीन जबकि मोर्कल ने 23 रन देकर तीन विकेट चटकाए जिससे एक समय नौ ओवर में एक विकेट पर 81 रन बनाकर मजबूत स्थिति में दिख रही चार्जर्स की टीम 157 रन ही बना सकी। मेहमान टीम की ओर से पार्थिव पटेल ने 45 जबकि शिखर धवन ने 44 रन की पारी खेली। दोनों ने दूसरे विकेट के लिए सिर्फ 6.5 ओवर में 71 रन की साझेदारी की। भरत चिपली ने 17 गेंद में तीन चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 25 रन की पारी खेली।

टूर्नामेंट में पहली जीत की तलाश में जुटे चार्जर्स ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया लेकिन उसकी शुरुआत खराब रही। टीम ने तीसरे ओवर में 10 रन के स्कोर पर ही कप्तान कुमार संगकारा (1) का विकेट गंवा दिया जो मोर्कल की गेंद को लेग साइड में खेलने के प्रयास में हवा में लहरा गए और योगेश नागर ने आसान कैच लपका।

धवन और पार्थिव (45) ने इसके बाद पारी को संभाला। पार्थिव ने इरफान पठान पर लगातार तीन चौके जड़े जबकि धवन ने अजित अगरकर का स्वागत लेग साइड पर छक्के के साथ किया। दोनों ने छह ओवर में टीम का स्कोर 50 रन तक पहुंचाया।

धवन ने इसके बाद केविन पीटरसन, अगरकर और उमेश यादव पर भी चौका जड़े लेकिन वह बाएं हाथ के स्पिनर नदीम की पहली ही गेंद को रिवर्स स्वीप करने के प्रयास में पगबाधा आउट हो गए। उन्होंने 29 गेंद की अपनी पारी में पांच चौके और एक छक्का मारा।

पार्थिव ने उमेश पर छक्का जड़ा लेकिन वह इसी ओवर की अंतिम गेंद पर भाग्यशाली रहे जब थर्ड मैन पर अगरकर ने उनका कैच लपक लिया लेकिन मैदानी अंपायरों ने तीसरे अंपायर से सलाह के बाद कमर से ऊपर गेंद के लिए इसे नोबाल करार दिया।

नदीम के अगले ओवर में पीटरसन ने भी पार्थिव का कैच छोड़ा जब वह आंख में सूरज की रोशनी पड़ने के कारण गेंद को नहीं देख पाए। पार्थिव हालांकि इसी ओवर में छक्का जड़ने के प्रयास में डीप स्क्वायर लेग में महेला जयवर्धने को कैच दे बैठे। उन्होंने 27 गेंद का सामना करते हुए पांच चौके और एक छक्का जड़ा।

इन दोनों बल्लेबाजों के पवेलियन लौटने के बाद दिल्ली के गेंदबाजों ने रन गति पर अंकुश लगाया। राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ पिछले मैच में तूफानी नाबाद अर्धशतक जड़ने वाले जेपी डुमिनी (4) नदीम का तीसरा शिकार बने और उनकी गेंद को लेग साइड में खेलने की कोशिश में शॉर्ट मिडविकेट पर वीरेंद्र सहवाग को आसान कैच दे बैठे।

डेनियल क्रिस्टियन (19) इसके बाद उमेश की गेंद को पुल करने की कोशिश में डीप स्क्वायर लेग में नदीम को कैच दे बैठे जबकि मोर्कल ने अभिषेक झुनझुनवाला (4) और डेल स्टेन (2) को पवेलियन भेजा। चिपली ने अगरकर के पारी के 19वें ओवर में एक छक्का और दो चौके सहित 16 रन बटोरकर टीम का स्कोर 150 रन के पार पहुंचाया। अगरकर काफी महंगे साबित हुए और उन्होंने तीन ओवर में 42 रन खर्च कर डाले जबकि उन्हें कोई सफलता नहीं मिली।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पीटरसन के नाबाद शतक ने उड़ाया चार्जर्स का फ्यूज