DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केकेआर ने किंग्स इलेवन से चुकाया बदला

केकेआर ने किंग्स इलेवन से चुकाया बदला

गौतम गंभीर ने अपने 100वें ट्वेंटी20 मैच को यादगार बनाते हुए बुधवार को रणनीतिक अर्धशतक जमाया। उनकी इस पारी से कोलकाता नाइटराइडर्स ने इंडियन प्रीमियर लीग के 22वें मैच में किंग्स इलेवन पंजाब को 21 गेंद शेष रहते हुए आठ विकेट से हराकर तीन दिन पहले मिली हार का बदला चुकता कर दिया।

किंग्स इलेवन टॉस जीतने का फायदा नहीं उठा पाया। उसके बल्लेबाजों ने बेहद ढीला रवैया अपनाया। कप्तान एडम गिलक्रिस्ट ने 30 गेंद पर तीन चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 40 रन और शान मार्श ने 30 गेंद पर 33 रन बनाए लेकिन फिर भी उसकी टीम सात विकेट पर 124 रन ही बना पाई।
 
पंजाब की टीम को उम्मीद रही होगी कि दोनों टीमों के बीच खेले गये पिछले मैच की तरह कोई चमत्कार होगा जबकि केकेआर 135 रन का लक्ष्य भी हासिल नहीं कर पाया था। कप्तान गौतम गंभीर ने हालांकि 44 गेंद नाबाद 66 रन बनाकर सुनिश्चित किया कि टीम पिछली गलती नहीं दोहराएगी। गंभीर ने सात चौके और एक छक्का लगाया तथा जाक कैलिस (23 गेंद पर 30 रन) के साथ 53 रन की अटूट साझेदारी की जिससे केकेआर ने 16.3 ओवर में दो विकेट 127 रन बनाकर अपनी तीसरी जीत दर्ज की।

शाहरुख खान की टीम के अब छह मैच में छह अंक हो गए हैं जबकि प्रीति जिंटा की किंग्स इलेवन को तीसरी हार झेलनी पड़ी। उसके पांच मैच में चार अंक हैं।

इससे पहले किंग्स इलेवन ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया लेकिन उसके बल्लेबाजों ने हमेशा की तरफ ढीला रवैया अपनाया। उसकी पूरी पारी में केवल दस बार गेंद ने सीमा रेखा के दर्शन किए। किंग्स इलेवन की तरफ से कप्तान एडम गिलक्रिस्ट ने 30 गेंद पर तीन चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 40 रन और शान मार्श ने 30 गेंद पर 33 रन बनाए लेकिन ये दोनों किसी भी समय खतरनाक नहीं दिखे।

केकेआर की तरफ से सुनील नारायण और ब्रेट ली ने दो-दो विकेट लिए जबकि एल बालाजी और रजत भाटिया ने कसी हुई गेंदबाजी करके एक एक विकेट हासिल किया। किंग्स इलेवन ने पहले दस ओवर में 63 रन बनाए और इस बीच उसने दो विकेट गंवाए। बाद के दस ओवरों में भी उसके बल्लेबाजों में रन गति तेज करने का जज्बा नहीं दिखा। उसने पॉल वलथाटी (8) को फिर से टीम में लिया लेकिन वह इस मैच में भी नहीं चल पाए और ब्रेट ली ने जल्द ही उन्हें पवेलियन भेज दिया। वलथाटी अब तक चार मैच में केवल 22 रन बना पाए हैं।

गिलक्रिस्ट जब लय में दिख रहे थे तभी पांव की मांसपेशियों में खिंचाव के कारण उन्हें मैदान छोड़ना पड़ा। गिलक्रिस्ट ने तब 23 गेंद पर तीन चौकों की मदद से 28 रन बनाए थे और उनकी टीम का स्कोर एक विकेट पर 44 रन था। उनकी जगह लेने के लिए उतरे मनदीप सिंह (दस गेंद पर छह रन) किसी भी समय रंग में नहीं दिखे और एल बालाजी ने जल्द ही उनकी पारी का अंत कर दिया।

मार्श और डेविड हसी (14 गेंद पर दस रन) भी तेजी से रन बनाने में नाकाम रहे और आलम यह रहा था कि पहले 15 ओवर तक गेंद ने केवल आठ बार सीमा रेखा के दर्शन किए। इसमें केकेआर के अच्छे क्षेत्ररक्षण का भी अहम योगदान रहा।

मार्श का आउट होना विवादास्पद रहा। उन्होंने ली की काफी बाहर जाती गेंद पर शाट मारने की कोशिश की जो उनके बल्ले का किनारा लेकर विकेटकीपर के पास चली गई। हालांकि यह साफ नहीं हो पाया कि मानविंदर बिस्ला ने सही कैच लिया था या नहीं। किंग्स इलेवन की मालकिन प्रीति जिंटा भी अंपायरों के फैसले से नाखुश थी। मार्श ने अपनी पारी में चार चौके लगाए। इसके तुरंत बाद हसी भी रन आउट हो गए।

दिमत्री मास्करेनहास (9) और पारस डोगरा (6) भी दोहरे अंक में पहुंचने में नाकाम रहे जिसके कारण गिलक्रिस्ट को फिर से क्रीज पर कदम रखना पड़ा। उन्होंने आखिरी ओवर में नारायण पर पारी का एकमात्र छक्का जड़ा। नारायण ने अंतिम गेंद पर पीयूष चावला (दस गेंद पर नौ रन) को बोल्ड किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:केकेआर ने किंग्स इलेवन से चुकाया बदला