DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चौथाई फीसदी सस्ते हो सकते है कर्ज

चौथाई फीसदी सस्ते हो सकते है कर्ज

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा लघु अवधि की ब्याज दरों में 0.50 प्रतिशत की कटौती के बाद आवास, वाहन तथा कारपोरेट कर्ज 0.25 प्रतिशत तक सस्ता हो सकता है। केंद्रीय बैंक ने मंगलवार को सालाना मौद्रिक नीति समीक्षा में रेपो दर को आधा प्रतिशत घटाकर 8 फीसदी कर दिया है। यह बैंकों के लिए संकेत है कि वे कर्ज सस्ता करें।

केनरा बैंक के कार्यकारी निदेशक ए के गुप्ता ने कहा कि रिजर्व बैंक ने मजबूत कदम उठाया है। रिजर्व बैंक द्वारा नीतिगत दरों में कटौती से लोन पर ब्याज दरें घटेंगी। बैंकों की आधार दर में 0.25 फीसदी की कमी आने की संभावना है।

उधारी की लागत घटने का कुछ लाभ बैंकों द्वारा आंशिक रूप से ग्राहकों को दिया जा सकता है। आधार दर यानी बेस रेट से कम की दर पर बैंक ऋण नहीं दे सकते। इसमें कटौती का मतलब है कि सभी तरह के कर्ज सस्ते होंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चौथाई फीसदी सस्ते हो सकते हैं होम और वाहन लोन