अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी से जुड़ने लगे मालेगांव के तार

मालेगांव धमाके के मामले में अब उत्तर प्रदेश के एक वरिष्ठ नेता को पूछताछ के लिए हिरासत में लेने की नासिक अदालत ने महाराष्ट्र आतंकवादी निरोधक दस्ते (एटीएस) को इजाजत दे दी है। एटीएस के वकील अशोक मिसर ने हिन्दुस्तान को बताया कि यूपी के एक व्यक्ित से पूछताछ के लिए अर्जी दी गई थी जिसके आधार पर एटीएस को पूछताछ की इजाजत मिल गई है। उन्होंने उस व्यक्ित के बार में विस्तार से बताने से इंकार किया है। लेकिन सूत्रों का कहना है कि यह व्यक्ित एक राजनीतिक दल से जुड़ा हुआ है और उसका संबंध मालेगांव धमाके से भी है। मिसर का कहना है कि इस व्यक्ित से पूछताछ के लिए उत्तर प्रदेश सरकार से भी मदद लेने की इजाजत मिल गई है।ड्ढr ड्ढr बताया जाता है कि इस नेता के नाम का खुलासा मालेगांव धमाके के गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ में उाागर हुआ है। दूसरी ओर मालेगांव धमाके के मामले में गिरफ्तार पांच आरोपियों को सोमवार को नासिक अदालत ने 17 नवंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। लेकिन उसमें से एक आरोपी राकेश दत्तात्रय धावड़े को एटीएस ने अदालत में अर्जी देकर औरंगाबाद के एक मामले में पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है। अदालत में सरकारी वकील ने बताया कि पुलिस को शक है कि पुणे से गिरफ्तार आरोपी और अभिनय भारत के कैशियर ने अन्य आरोपियों को स्टेट बैंक की डेक्कन शाखा से 10 लाख रुपए ट्रांसफर किए थे। एसा समझा जाता है कि ये पैसे आर्मी फंड के हो सकते हैं और ये पैसे लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसाद श्रीकांत पुरोहित के माध्यम से आए होंगे। इस बीच सोमवार को मुंबई के दादर से माटुंगा पुलिस ने अभिनव भारत के सदस्य सुधाकर चतुव्रेदी को गिरफ्तार किया है जिसके पास एक पिस्तौल, कारतूस और सेना का पहचान पत्र मिले हैं। इधर महाराष्ट्र के गृहमंत्री ने संकेत दिया है कि मालेगांव धमाके के मामले में अब किसी और सेना अफसर से पूछताछ नहीं की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: यूपी से जुड़ने लगे मालेगांव के तार