DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

काबुल सहित चार अफगान शहरों में आतंकी हमले

काबुल सहित चार अफगान शहरों में आतंकी हमले

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के साथ प्रमुख स्थानों और तीन अन्य शहरों शहरों में तालिबान आत्मघाती हमलावरों ने हमले किए। इनमें काबुल का डिप्लोमेटिक एनक्लेव इलाका और अफगान संसद भी शामिल है, हालांकि कोई भारतीय ठिकाना आतंकवादियों के निशाने पर नहीं रहा। 

दिल्ली में विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर बताया कि सभी भारतीय सुरक्षित हैं। आईटीबीपी के महानिदेशक रंजीत सिन्हा ने कहा कि भारतीय दूतावास को कोई खतरा नहीं है क्योंकि यह हमले वाली जगह से तीन से चार किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

तालिबान ने इन हमलों की जिम्मेदारी ली है। नाटो का कहना है कि उसके पास खबर है कि आतंकवादियों ने काबुल में सात स्थानों पर हमला किया। कुछ स्थानों पर कई घंटे से गोलीबारी चल रही है। आतंकवादियों ने काबुल स्टार होटल की नई बनी इमारत पर भी हमला किया है।

अफगान गृह मंत्रालय के प्रवक्ता सिद्दीक ने बताया कि काबुल में हुए हमलों में अफगान नेशनल आर्मी के 11 जवानों के घायल होने की जानकारी है। काबुल में किसी नागरिक के मारे जाने अथवा घायल होने की खबर नहीं है। कुछ खबरों में कहा गया है कि 24 लोग घायल हुए हैं और सात आतंकवादी मारे गए हैं।

अधिकारियों ने बताया कि आतंकवादियों ने शहर-ए-नव इलाके में बनी एक नई इमारत से पोजीशन लेकर दूतावासों पर हमले शुरू किए। यह इमारत अमेरिकी दूतावास, आईएसएफ के मुख्यालय, तुर्की के दूतावास, राष्ट्रपति आवास, ईरानी दूतावास और कई अन्य राजनयिक कार्यालयों के निकट है। काबुल में हमलावरों की संख्या के बारे में जानकारी नहीं मिली है।

 अधिकारियों ने बताया कि आतंकवादियों ने वजीर अकबर खान इलाके में स्थित काबुल स्टार होटल पर हमला किया और कुछ ने अफगान संसद में घुसने का प्रयास किया, लेकिन सुरक्षा बलों ने उन्हें पीछे भागने पर मजबूर कर दिया।

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि आतंकवादी घातक हथियारों से लैस थे और उन्होंने विभिन्न इलाकों में गोलीबारी की। आत्मघाती हमलावरों ने नए बने इस होटल को अपने कब्जे में ले लिया। इसमें गोलीबारी की खबर भी है। हमले के तत्काल बाद पूरे इलाके को सुरक्षा बलों ने घेर लिया।

काबुल में मौजूद एक पीटीआई संवाददाता ने बताया कि मैं मौके पर मौजूद हूं और आत्मघाती हमलावरों और अफगान सुरक्षा बलों के बीच गोलीबारी की आवाज सुनाई दे रही है। मैंने कई विस्फोटों की आवाज सुनी है।

तालिबान ने हमले की जिम्मेदारी ली है। तालिबान प्रवक्ता जबीउल्ला मुजाहिद ने संवाददाताओं को संदेश भेजकर कहा कि आज दोपहर एक बजे हमारे मुजाहिद्दीनों ने आत्मघाती हमले किए। आईएसएएफ मुख्यालय, संसद भवन, और दूसरे राजनयिक दफ्तरों को निशाना बनाया गया है। आतंकवादियों ने जलालाबाद, लोगार और पाक्तिया में हवाई अडडे को निशाना बनाया है।

टोलो टीवी के मुताबिक घातक हथियारों से लैस कुछ आतंकवादी नई इमारत से दारूल अमान इलाके में स्थित अफगान संसद पर हमला किया है। नांगरहार प्रांत में जलालाबाद हवाई अड्डे के प्रवेश द्वार पर दो आत्मघाती हमलावरों ने खुद को उड़ा लिया। पुलिस का कहना है कि इनमें कई लोग घायल हुए हैं।

चार आत्मघाती हमलावरों ने हवाई अड्डे के भीतर घुसने का प्रयास किया और सुरक्षा बलों की ओर से रोके जाने पर दो ने विस्फोट कर दिए। दो अन्य हमलावर घायल हो गए और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। जलालाबाद में तालिबान आतंकवादियों ने आईएसएएफ की प्रांतीय पुनर्निर्माण दल (पीआरटी) पर भी हमला किया।

तालिबान प्रवक्ता ने कहा कि जलालाबाद में हमारे कई मुजाहिद्दीनों ने हवाई अड्डे और पीआरटी पर हमला किया है। लोगार प्रांत की सरकार के प्रवक्ता दीन मोहम्मद दारविश ने बताया कि आतंकवादियों ने यहां गवर्नर कार्यालय और अफगान खुफिया एजेंसी के दफ्तर को निशाना बनाया है।

गोलीबारी के दौरान गवर्नर अपने कार्यालय में मौजूद थे और अंदर ही फंसे हुए हैं। दारविश ने कहा कि गोलीबारी अभी चल रही है, हालांकि हताहतों के बारे में कोई जानकारी नहीं है। पाक्तिया प्रांत में पाक्तिया विश्वविद्यालय के निकट गोलीबारी में दो छात्रों सहित 10 लोग घायल हुए हैं। यहां आतंकवादियों ने पुलिस के क्षेत्रीय परिसर, हवाई अड्डे, पुलिस मुख्यालय एवं खुफिया विभाग के दफ्तर पर हमले किए हैं। खबरों के मुताबिक तालिबान आतंकवादियों ने काबुल के जिला नंबर-6 इलाके के जलालाबाद मार्ग पर स्थित सैन्य अकादमी के परिसर पर भी धावा बोला है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:काबुल सहित चार अफगान शहरों में आतंकी हमले