DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत विरोधी पाकिस्तानी नागरिक को अमेरिका में सजा

भारत विरोधी पाकिस्तानी नागरिक को अमेरिका में सजा

अमेरिका की एक अदालत ने शनिवार को भारत विरोधी कार्य में लिप्त एक पाकिस्तानी नागरिक को 12 वर्ष की सजा सुनाई। वह लश्कर-ए-तैयबा की सहायता कर रहा था।

अलेक्जेंडरा वर्जीनिया की संघीय अदालत ने मामले की सुनवाई के बाद वर्जीनिया में रह रहे 24 वर्षीय जुबैर अहमद को यह सजा सुनाई। उस पर वर्ष 2010 में एक वीडियो बनाने के बाद उसे सोशल नेटवर्किंग साइट यू ट्यूब पर पोस्ट करने का भी आरोप था।

अभियोजन के अनुसार अहमद लश्कर-ए-तैयबा लीडर के पुत्र तल्हा सईद के संपर्क में आया था, जिसने उसे कश्मीर में हमले का दृश्य वाले एक वीडियो बनाने के लिए कहा था। अहमद ने सितम्बर 2010 में वीडियो बनाकर इसे यूट्यूब पर पोस्ट कर दिया था।

सरकारी वकील की ओर से अदालत में प्रस्तुत दस्तावेजों के मुताबिक अहमद वर्ष 2007 में अपने परिवार के साथ वर्जीनिया आया था। लश्कर ए तैयबा के साथ उसके जुड़े होने की सूचना मिलने के बाद संघीय जांच ब्यूरो (एफबीआई) ने वर्ष 2009 में मामले की जांच शुरू की थी।

अदालत में आतंकवादी संगठन के प्रशिक्षण शिविर में शामिल होने तथा उनके लिए फंड जुटाने संबंधी सबूत भी प्रस्तुत किए गए थे। उल्लेखनीय है कि लश्कर ए तैयबा के पाकिस्तान की खुफिया एजेंसिंयों के साथ नाता रहा है तथा अमेरिका ने वर्ष 2001 में विदेशी आतंकवादी संगठन करार दिया था। इस संगठन पर वर्ष 2008 में मुंबई हमले का षडयंत्र रचने का भी आरोप है। मुंबई हमले में छह अमेरिकी नागिरकों सहित 166 लोगों की जानें चली गई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारत विरोधी पाक नागरिक को अमेरिका में सजा