DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाजपा विधायक हेम्ब्रम की संपत्ति जब्त का मुकदमा दायर

कटोरिया से भाजपा विधायक सोनेलाल हेम्ब्रम की आय से अधिक अजिर्त अवैध संपत्ति को नये कानून के तहत जब्त करने के लिए एक नया मुकदमा दायर किया गया है। यह मुकदमा निगरानी अन्वेषण ब्यूरो ने शुक्रवार को निगरानी की विशेष अदालत में दायर किया। ब्यूरो ने इस नये मुकदमे में आरोपित विधायक और उनके नाते-रिश्तेदारो समेत 6 लोगों को प्रतिवादी बनाया है।

ब्यूरो ने जांच में पाया है कि विधायक हेम्ब्रम जब उत्पाद विभाग में नौकरी कर रहे थे, तभी उन्होंने भ्रष्टाचार में लिप्त होकर 24 लाख 98 हजार रुपए से अधिक रुपए की अवैध चल व अचल संपत्ति अजिर्त की है। इसी अवैध संपत्ति को बिहार स्पेशल एक्ट 2009 की धारा 13 के तहत जब्त करने के लिए नया मुकदमा निगरानी की विशेष अदालत में दायर किया गया है। ब्यूरो ने भाजपा विधायक हेम्ब्रम पर जालसाजी,धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत वर्ष 2000 में प्राथमिकी दर्ज कर जांच शुरु की और विशेष अदालत में उनके खिलाफ चाजर्शीट दायर किया था।

ऐसे हुआ खुलासा 
आय से अधिक अजिर्त की गयी अवैध संपत्ति का खुलासा उस समय हुआ जब आयकर विभाग की टीम ने तत्कालीन उत्पाद विभाग के उपायुक्त सोनेलाल हेम्ब्रम के पटना स्थित पटेल नगर स्थित आलीशान मकान पर 27 नवंबर 1997 को छापामारी की थी। इस छापामारी में आयकर की टीम को पता चला कि हेम्ब्रम के पास 2 करोड़ 67 लाख 92 हजार रुपए की चल व अचल संपत्ति है। इसके साथ ही कई बेनामी संपत्ति भी है।

पटना और रांची में है अवैध संपत्ति
पटना हाईकोर्ट के एक आदेश पर निगरानी अन्वेषण ब्यूरो ने 20 सितम्बर 2000 को उत्पाद विभाग के तत्कालीन उपायुक्त हेम्ब्रम पर जालसाजी, धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज कर अनुसंधान शुरु किया था। ब्यूरो ने उनके खिलाफ जांच अवधि 1972 से 1997 तक निर्धारित किया।  जांच के दौरान ब्यूरो ने पाया इस अवधि में अभियुक्त हेम्ब्रम ने भ्रष्ट तरीके से 24 लाख 98 हजार रुपए से अधिक  की चल व अचल संपत्ति अजिर्त की है। ब्यूरो ने जांच में पाया कि पटना के पटेल नगर स्थित आलीशान मकान, रांची में कई जगहो पर कीमती जमीन का प्लॉट (38 कठ्ठा ) समेत अन्य जगहो पर उन्होंने संपत्ति अजिर्त की है। इसके अलावे ब्यूरो  ने यूटीआई और सहारा निवेश का भी पता लगाया है। वर्तमान में यह संपत्ति करोड़ो रुपए की है। 

कहां-कहां नौकरी की हेम्ब्रम ने
भाजपा विधायक और तत्कालीन उत्पाद उपायुक्त सोनेलाल हेम्ब्रम गा्रम-मथुरा, थाना- कटोरिया,जिला-बांका के रहनेवाले है। उन्होंने सबसे पहले रांची स्थित लोक लेखा विभाग में ऑडिटर के पद पर नौकरी की थी। इसके बाद वे वर्ष 1972 में उत्पाद विभाग में उत्पाद निरीक्षक के पद पर नियुक्त हुए। वर्ष 1980 में उत्पाद अधीक्षक, वर्ष 1985 में सहायक उपायुक्त,1988 में उत्पाद विभाग पटना में उपायुक्त बने और वर्ष 1993 तक उत्पाद विभाग के आयुक्त भी रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भाजपा विधायक हेम्ब्रम की संपत्ति जब्त का मुकदमा दायर