DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छात्र आंदोलन के आगे झुका मगध विवि प्रशासन

आखिरकार छात्र आंदोलन के आगे मगध विश्वविद्यालय प्रशासन को एकबार फिर झुकना पड़ा। मगध विश्वविद्यालय प्रशासन ने एलएलबी कोर्स के परीक्षा शुल्क में वृद्धि कर दी थी। विश्वविद्यालय प्रशासन ने एलएलबी पार्ट वन और पार्ट टू में 1620 रुपए से परीक्षा शुल्क बढ़ाकर 2370 रुपए कर दिया था। इसी तरह से पार्ट थ्री में 1770 रुपए से परीक्षा शुल्क बढ़ाकर 3070 रुपए कर दिया गया था।

इस फीस वृद्धि के खिलाफ छात्र लगातार आंदोलन कर रहे थे। एआईएसएफ के बैनर तले छात्रों ने शुक्रवार को राजेन्द्र नगर स्थित मगध विश्वविद्यालय के शाखा कार्यालय में घंटों प्रदर्शन किया। आक्रोशित छात्रों ने शाखा कार्यालय में तालाबंदी कर दोपहर डेढ़ बजे तक हंगामा किया। इस वजह से कार्यालय में कोई काम नहीं हो सका। छात्रों ने सभी पदाधिकारियों और कर्मचारियों को घंटों बंधक बनाए रखा।

छात्रों ने कहा कि जबतक परीक्षा शुल्क में कटौती नहीं की जाएगी आंदोलन चलता रहेगा। संगठन के सुशील कुमार ने कहा कि विश्वविद्यालय छात्रों पर अतिरिक्त बोझ डाल रहा है। फीस वृद्धि को वापस लेना होगा। इसके बाद छात्रों के प्रतिनिधिमंडल ने शाखा कार्यालय के पदाधिकारी डा. मनोज कुमार से वार्ता की।

इसके बाद छात्रों की बातचीत परीक्षा नियंत्रक सुनील कुमार से करायी गयी। लंबी वार्ता के बाद फीस वृद्धि में कटौती की गयी। डा. मनोज कुमार ने बताया कि अब एलएलबी पार्ट वन और पार्ट टू के छात्रों को 1970 रुपए और पार्ट थ्री के छात्रों को 2470 रुपए परीक्षा शुल्क देना होगा।

एआईएसएफ की ओर से प्रदर्शन करने वालों में संदीप कुमार, मोनिका कुमारी, संतोष कुमार, पुरुषोत्तम कुमार, स्मृति कुमारी, रुपेश, राजेश, अमित कुमार सहित दजर्नों छात्र शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:छात्र आंदोलन के आगे झुका मगध विवि प्रशासन