DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार शताब्दी उत्सव को लेकर मुंबई में उत्साह

बिहार शताब्दी उत्सव को लेकर मुंबई में रहने वाले बिहारी मूल के लोगों में गजब का उत्साह दिख रहा है। सायन स्थित सौमैया ग्राउंड पर रविवार की शाम छह बजे समारोह का उद्घाटन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेंगे। समारोह का मुख्य उद्देश्य प्रवासियों में बिहारीपन का भाव जगाना और उन्हें प्रदेश की विकास यात्रा में सहभागी बनने के लिए प्रेरित करना है।

महाराष्ट्र गान और फिर बिहार गीत के  बाद मुख्यमंत्री कार्यक्रम का विधिवत उदघाटन करेंगे। बिहार में सत्ता संभालने के बाद मुंबई में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का यह पहला सार्वजनिक कार्यक्रम है। इस वजह से भी लोगों में जोश देखते बन रहा है। कार्यक्रम राजनीति से एकदम अलग होगा। मंच पर भी मुख्यमंत्री के अलावा किसी दूसरे नेता को जगह नहीं मिलेगी।

सौमैया ग्राउंड पर शानदार पंडाल बनाया गया है, जिसमे लगभग 10 हजार कुर्सियां लगाई गयी है। लोगों को समारोह स्थल तक लाने के लिए वाहनों का इंतजाम किया गया है। कार्यक्रम का उद्घाटन करने के बाद मुख्यमंत्री को मुंबई के बौद्ध और जैन समुदाय द्वारा सम्मानित किया जाएगा।

इसके अलावा शिक्षा भारती, महाराष्ट्र बूट पॉलिस एसोसिएशन, सामाजिक न्याय मंच और यादव विकास मंच द्वारा भी मुख्यमंत्री को सम्मानित किया जाएगा। मुख्यमंत्री भी मुंबई में रहकर समाज के विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय योगदान करने वाले प्रवासी बिहारियों को सम्मानित करेंगे। 

शुक्रवार की शाम बिहार सरकार के पूर्व मंत्री, विधान पार्षद और कार्यक्रम के आयोजक देवेशचन्द्र ठाकुर ने स्थानीय सामाजिक संगठनों के पदाधिकारियों के साथ कार्यक्रम स्थल का जायजा लिया। वहां बिहार से गए विधान पार्षद मुन्ना सिंह, जदयू के प्रदेश महासचिव छोटू सिंह भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री के संबोधन के बाद सांस्कृतिक कार्यक्रम आरंभ होंगे। इसमें गायक उदित नारायण और मनोज तिवारी मुख्य आकर्षण होंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार शताब्दी उत्सव को लेकर मुंबई में उत्साह