DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गिरफ्तारी से बचने के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंची नूपुर

गिरफ्तारी से बचने के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंची नूपुर

आरुषि और हेमराज हत्याकांड के सिलसिले में गिरफ्तार होने की आशंकाओं के बीच डॉक्टर नूपुर तलवार ने गुरुवार को उच्चतम न्यायालय से निचली अदालत द्वारा उनके खिलाफ जारी गैर जमानती वारंट पर रोक लगाने का अनुरोध किया।
     
हालांकि न्यायमूर्ति एके पटनायक और न्यायमूर्ति स्वतंत्र कुमार की खंडपीठ ने उनकी याचिका पर आज सुनवाई से इंकार करते हुए कहा कि इस पर कल सुनवाई होगी। गाजियाबाद की एक अदालत की ओर से कल नूपुर के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी होने के बाद सीबीआई ने नूपुर को गिरफ्तार करने के लिए छापे मारे।
     
तत्काल सुनवाई का अनुरोध करते हुए नूपुर के वकील ने कहा कि वह अदालत से भाग नहीं रही हैं। नूपुर की ओर से पेश वरिष्ठ वकील मुकुल रोहतगी ने इस मामले में तत्काल सुनवाई का अनुरोध करते हुए कहा, वह भगोड़ी नहीं हैं और न्याय से भाग नहीं रही हैं।
    
हालांकि पीठ ने कहा कि यह याचिका आज सूचीबद्ध नहीं है और इस पर कल सुनवाई होगी। पीठ ने कहा कि हम इसे कल देखेंगे।

नोएडा के चर्चित आरुषि-हेमराज हत्याकांड में गैर जमानती वारंट लेकर नूपुर तलवार के घर पहुंची सीबीआई टीम को खाली हाथ लौटना पड़ा था।

अब तक बात की पूरी संभावना जताई जा रही थी कि गुरुवार को किसी भी समय नूपुर की या तो गिरफ्तारी हो सकती है या फिर वह खुद ही कोर्ट में आत्मसमर्पण कर सकती हैं।

इससे पहले सीबीआई ने नूपुर तलवार की तलाश में बुधवार देर रात तक उसके कई ठिकानों पर छापे मारे, लेकिन नाकामी हाथ लगी। सूत्र बता रहे हैं कि सीबीआई गुरुवार को भी छापे मारेगी ताकि नूपुर को गिरफ्तार किया जा सके।

कानूनी तौर पर नूपुर तलवार के पास भी दो ही विकल्प थे। पहला या तो वह खुद सरेंडर कर दें या फिर गाजियाबाद कोर्ट के फैसले को ऊपरी अदालत में चुनौती दें।
 
नूपुर की तलाश में सीबीआई टीम जिन जगहों पर पहुंची उनमें दिल्ली के हौजखास इलाके का आजाद अपार्टमेंट शामिल है। इसके अलावा टीम के लोग नोएडा के सेक्टर 25 में जलवायु विहार भी पहुंचे, लेकिन यहां भी उन्हें नाकामी ही हाथ लगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गिरफ्तारी से बचने के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंची नूपुर