DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंडोनेशिया में शक्तिशाली भूकंप, सुनामी का खतरा

इंडोनेशिया में शक्तिशाली भूकंप, सुनामी का खतरा

इंडोनेशिया के समुद्री क्षेत्र में 8.7 तीव्रता वाले शक्तिशाली भूकंप के बाद भारत सहित हिंद महासागर से जुड़े सभी देशों में सुनामी का खतरा पैदा हो गया था। इस क्षेत्र में 2004 में सुनामी से जानमाल की भारी तबाही हुई थी।

सुमात्रा द्वीप में भूकंप का झटका महसूस किया गया। इसके बाद अमेरिकी और इंडोनेशियाई निगरानीकर्ताओं ने पूरे हिंद महासागर क्षेत्र में सुनामी का एलर्ट जारी कर दिया।

भूकंप के झटके भारत के पूर्वी तट, श्रीलंका, आस्ट्रेलिया, थाईलैंड, सिंगापुर और मलेशिया तक महसूस किए गए। भारत में तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, अंड़मान और निकोबार, असम तथा पश्चिम बंगाल में भूकंप के झटके महसूस किए गए।

अमेरिकी भूगर्भीय सर्वेक्षण ने बताया कि सुमात्रा के तट के पास समुद्र की सतह से 33 किलोमीटर की गहराई पर भारतीय समयानुसार अपराहन दो बजकर आठ मिनट पर 8.7 की तीव्रता वाला भूकम्प आया। भूकंप का केंद्र बांदा आसेह था। शुरू में इसकी तीव्रता 8.9 बतायी गयी थी।

इंडोनेशिया ज्वालामुखी और भूकम्प गतिविधियों वाला देश रहा है। 26 दिसम्बर 2004 को रिक्टर पैमाने पर 9.1 की तीव्रता वाले भूकम्प के बाद हिन्द महासागर में जबर्दस्त सुनामी आयी थी, जिसमें 2,20,000 लोग मारे गये थे। इनमें 17,000 लोगों की मौत केवल आसेह में हुई थी।

भूकंप के कारण बांदा आसेह में निवासियों के बीच अफरा-तफरी मच गई। तकरीबन पांच मिनट तक जमीन हिलती रही। कुछ वक्त के लिए यहां टेलीफोन कनेक्शन बंद हो गए। लोग सुरक्षित स्थानों की ओर भागते देखे गए।

बांदा आसेह में लोग प्रभावित इलाकों से दूर जाने के प्रयास में हैं। हर जगह यातायात जाम देखा गया। सुमात्रा के तट पर आज आये जबर्दस्त भूकम्प के बाद अमेरिकी निगरानीकर्ताओं ने हिंद महासागर पर नजर रखने के आदेश जारी किये हैं, लेकिन उसने स्पष्ट किया है कि अभी निश्चित नहीं है कि सुनामी का खतरा बन रहा है।

अमेरिकी प्रशांत सुनामी चेतावनी केन्द्र ने कहा कि इस आकार के भूकम्प से बड़े पैमाने पर तबाही वाले सुनामी की लहरें उठने का खतरा रहता है जो समूचे हिंद महासागर के तटवर्ती इलाकों को प्रभावित कर सकता है।

सुनामी चेतावनी केन्द्र ने बताया कि उसने अभी पता नहीं लगाया है कि क्या ऊंची लहरें उठी हैं अथवा नहीं, लेकिन उसमें शायद इसे पैदा करने की ताकत है और स्थानीय अधिकारियों को उचित कदम  उठाने की सलाह दी गयी है।

भूकंप के बाद थाईलैंड, सिंगापुर, मलेशिया और श्रीलंका में सुनामी की चेतावनी जारी कर दी गई। थाईलैंड के फुकेट में भूकंप का भारी झटका महसूस किया गया। निचले स्थानों को खाली करा दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इंडोनेशिया में शक्तिशाली भूकंप, सुनामी का खतरा टला