DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैदान पर वापसी आसान नहीं होगी : युवराज

मैदान पर वापसी आसान नहीं होगी : युवराज

अमेरिका में जर्म सेल कैंसर का सफल इलाज करवाकर लौटे भारतीय क्रिकेट टीम के स्टार बल्लेबाज युवराज सिंह ने बुधवार को कहा कि वह मैदान में लौटने को बेताब हैं लेकिन वापसी उनके लिए आसान नहीं होगी। युवराज ने कहा कि फिलहाल वह वापसी बारे में नहीं सोच सकते क्योंकि अभी वह सिर्फ और सिर्फ अपने स्वास्थ्य के बारे में सोच रहे हैं।

युवराज सोमवार सुबह स्वदेश लौटे थे। उसी दिन युवराज ने बुधवार को एक संवाददाता सम्मेलन कर मीडिया को हाले बयां करने की बात कही थी। गुड़गांव के पाथवेज स्कूल के सभागार में खचाखच भरे मीडियाकर्मियों से मुखातिब युवराज ने कहा कि वह आम लोगों की तरह जीवन बसर करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन कैंसर ने उनके दिलो-दिमाग को काफी बदल दिया है।

युवराज ने कहा कि बीते तीन महीने मेरे लिए काफी मुश्किल भले रहे हैं। इस दौरान जिंदगी ने मुझे नया पाठ सिखाया। मैं पहले तो हताश था लेकिन बाद में मजबूत बनकर उभरा हूं। क्रिकेट देखते वक्त मैं हताश हो जाया करता था। जेहन में बार-बार यही आता था कि क्या मैं अब कभी खेल पाऊंगा। अब मैं पूरी तरह ठीक हूं। कैंसर ठीक हो चुका है। घाव भरना बाकी है लेकिन मैदान में वापसी को लेकर साफ-साफ कुछ नहीं कह सकता।

युवराज ने अपने परिजनों, खासतौर पर अपनी मां शबनम सिंह, दोस्तों और प्रशंसकों का शुक्रिया अदा किया। युवराज ने कहा कि बीमारी के दौरान मां मेरी ताकत थी। मेरे दोस्त हमेशा मेरे सम्पर्क में रहते थे और प्रशंसकों ने लगातार प्यार दिया। इससे मेरा साहस बढ़ा और फिर अमेरिका में अनिल कुम्बले और फिर लंदन में सचिन तेंदुलकर से मिलने के बाद उन्हें बहुत खुशी हुई।

युवराज ने बीते साल अक्टूबर में बीमारी का पता चलने के बाद उनके लिए जीवन कठिन हो गया था। युवराज ने कहा कि मेरे लिए वह बेहद मुश्किल समय था। मुझे छह महीने यह पता लगाने में लग गए कि आखिरकार मुझे हुआ क्या है। बाद में मुझे पता चला कि मुझे कैंसर है। मुझे इस बीमारी के कारण काफी परेशानी होती थी क्योंकि मुझे सांस लेने में दिक्कत तो होती ही थी, खांसने पर मेरे मुंह से खून आता था।

युवराज ने कहा कि मैंने इस बारे में किसी को नहीं बताया था। मैं किसी को यह नहीं बताना चाहता था कि मैं इस दौर से गुजर रहा हूं। मैं हमेशा हंसता रहता था और खुद से यह कहता रहता था कि मैं एक दिन ठीक हो जाऊंगा लेकिन यह मेरे लिए काफी गम्भीर मसला था। मैं इस बीमारी से किसी तरह उबर ही गया। मुझे इसकी खुशी है।

उल्लेखनीय है कि बॉस्टन में इलाज के बाद युवराज कुछ समय से लंदन में आराम कर रहे थे। लंदन प्रवास के दौरान ही युवराज की सचिन से मुलाकात हुई थी, जो अपनी चोट के इलाज के लिए वहां पहुंचे थे। युवराज ने इस मुलाकात की जिक्र ट्विटर पर किया था और इस बारे में एक तस्वीर भी जारी की थी।

युवराज ने बॉस्टन इंस्टीट्य़ूट ऑफ कैंसर रिसर्च में जनवरी से मार्च के बीच तीन चरण में कीमोथेरेपी कराई। 30 वर्षीय युवराज को पिछले महीने अस्पताल से छुट्टी मिल गई थी। युवराज इस वर्ष जनवरी के अंतिम सप्ताह में इलाज के लिए अमेरिका गए थे।

युवराज का इलाज उसी अस्पताल में चल रहा था जिस अस्पताल में सात बार के टूर डी फ्रांस जीतने वाले अमेरिकी साइकिल चालक लांस आर्म्सट्रांग ने अपने कैंसर का इलाज कराया था। युवराज की स्वदेश वापसी के बाद आर्म्सट्रांग ने एक वीडियो जारी करते हुए कहा कि मैं यह देखकर खुश हूं कि तुम अब स्वस्थ हो। शानदार जीवन जियो और कभी पीछे मुड़कर मत देखना।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मैदान पर वापसी आसान नहीं होगी : युवराज