DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डेयरडेविल्स की आंधी में बह गए सुपरकिंग्स

डेयरडेविल्स की आंधी में बह गए सुपरकिंग्स

दिल्ली डेयरडेविल्स ने उम्दा गेंदबाजी, चपल क्षेत्ररक्षण और आकर्षक बल्लेबाजी का खूबसूरत नजारा पेश करके पांचवें इंडियन प्रीमियर लीग के 11वें मैच में मंगलवार को पिछले चैंपियन चेन्नई सुपरकिंग्स को 40 गेंद शेष रहते हुए आठ विकेट से करारी शिकस्त दी। 

शाम को तेज आंधी के साथ आई बारिश के कारण मैच आधा घंटा देरी से शुरू हुआ लेकिन इसके बाद फिरोजशाह कोटला पर केवल डेयरडेविल्स रूपी आंधी ही दिखाई दी जिसके आगे सुपरकिंग्स नहीं टिक पाए। टॉस से लेकर बल्लेबाजी, गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण हर विभाग में डेयरडेविल्स के खिलाड़ी छाए रहे।

वीरेंद्र सहवाग ने टॉस जीतकर चेन्नई को बल्लेबाजी का न्यौता दिया जिसके चार बल्लेबाज बेवजह रन आउट हुए। उसके छह बल्लेबाज दोहरे अंक में पहुंचे लेकिन केवल डवेन ब्रावो (31 गेंद पर 22 रन) ही 20 रन पार पहुंच पाए। चेन्नई आठ विकेट पर सिर्फ 110 रन बना पाया। डेयरडेविल्स की तरफ से मोर्ने मोर्कल सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 20 रन देकर दो विकेट लिए।
 
सहवाग ने 33 रन की तूफानी पारी खेली जबकि केविन पीटरसन (26 गेंद पर नाबाद 43) और महेला जयवर्धने (नाबाद 20) ने मनमोहित करने वाला खेल दिखाया जिससे दिल्ली की टीम केवल 13.2 ओवर में दो विकेट पर 111 रन बनाने में सफल रही। बारिश के कारण मैच आधा घंटा देरी से शुरू हुआ था लेकिन दिल्ली के चमत्कारिक प्रदर्शन से सही समय पर समाप्त हो गया।

दिल्ली की तीन मैच में यह दूसरी जीत है। आज के प्रदर्शन को देखकर लगता है कि उसकी टीम जरूरी लय हासिल करके पिछले साल के खराब प्रदर्शन का दाग धो सकती है। तब डेयरडेविल्स आखिर स्थान पर रहे थे। धीमी शुरुआत करने वाले चेन्नई को तीसरे मैच में दूसरी हार का सामना करना पड़ा है।

इससे पहले शाम को तेज आंधी के साथ आई बारिश के कारण मैच आधा घंटा देरी से शुरू हुआ और इसके बाद डेयरडेविल्स के कप्तान वीरेंद्र सहवाग ने टॉस जीतकर चेन्नई को पहले बल्लेबाजी का न्यौता देने में कोई देर नहीं लगाई। पिच में अच्छी उछाल थी लेकिन चेन्नई के बल्लेबाजों ने अपनी गलती से भी विकेट गंवाए।

चेन्नई के छह बल्लेबाज दोहरे अंक में पहुंचे लेकिन इनमें से केवल डवेन ब्रावो (31 गेंद पर 22 रन) ही 20 रन के पार पहुंच पाए। उसके चार बल्लेबाज रन आउट हुए जबकि डेयरडेविल्स की तरफ से मोर्ने मोर्कल ने 19 रन देकर दो विकेट लिए।
 
दिल्ली ने पहली गेंद पर ही चेन्नई को झटका दे दिया था लेकिन यह सफलता उसे सलामी बल्लेबाज फाफ डु प्लेसिस की वजह से मिली जिन्होंने रन लेने के लिए शुरुआत तो की लेकिन तुरंत ही वापस मुड़ गए। मुरली विजय तब तक आधी दूरी पार कर चुके थे और उनके पास वापसी का कोई समय नहीं था।

डु प्लेसिस (15) ने पहले तीन ओवर में तीन चौके लगाए लेकिन सहवाग ने पवेलियन छोर से मोर्कल को गेंदबाजी पर लगाया जिन्होंने पहली गेंद पर ही डेयरडेविल्स को दूसरी सफलता दिलायी। डु प्लेसिस का उठती गेंद पर किए गए कवर ड्राइव को रीलोफ वान डेर मर्व ने खूबसूरत कैच में बदला।

दिल्ली के दर्शकों में जोश भर गया। सुरेश रैना (16 गेंद पर 17 रन) ने पहले इरफान पठान और फिर उमेश यादव पर मिडविकेट और स्क्वायर लेग क्षेत्र में छक्के लगाकर चेन्नई के चाहने वालों में जोश भरा। रैना खतरा बनते इससे पहले वह शॉट सीधे क्षेत्ररक्षक के पास खेलकर रन के लिए दौड़ पड़े और जब तक वापस लौटते तब तक योगेश नागर के थ्रो पर गिल्लियां बिखर चुकी थी।

एस बद्रीनाथ (15) ने केविन पीटरसन पर लांग आन पर आकर्षक छक्का लगाया लेकिन उन्होंने भी रन लेने में हड़बड़ी दिखाई और रन आउट हो गए। इसके बाद विकेटकीपर नमन ओझा की बेहतरीन डाइविंग का नजारा देखने को मिला जिससे चेन्नई की पिछली जीत के नायक रविंदर जडेजा की पारी 13 रन पर थम गई।

कप्तान महेंद्र सिंह धौनी किसी भी समय टीम को संकट से उबारने लायक पारी खेलने की स्थिति में नहीं दिखे। वे रन बनाने के लिए जूझ रहे थे और आखिर में 18 गेंद पर 11 रन बनाकर वह मोर्कल की गेंद पर महेला जयवर्धने को आसान कैच देकर डगआउट में पहुंचे। यादव ने अगले ओवर में ब्रावो को बोल्ड करके चेन्नई की रही सही उम्मीद भी तोड़ दी। आर अश्विन (8) रन आउट होने वाले चौथे बल्लेबाज बने।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डेयरडेविल्स की आंधी में बह गए सुपरकिंग्स