DA Image
26 जनवरी, 2020|2:10|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नर्सिग होम संचालक को तेजाब से नहलायां

नर्सिग होम संचालक उपेन्द्र वर्मा के लिए मंगलवार की रात ‘अमंगल’ बन कर आई। अचानक हमलावर ने धावा बोला और उपेन्द्र (45 वर्ष) को तेजाब से नहला दिया। उनके सिर से लेकर पांव के नख तक झुलस गये। दिल दहला देने वाली यह घटना पालीगंज थानांतर्गत कुरकुरी गांव में हुई। तत्काल उपेन्द्र को स्थानीय नर्सिग होम ले जाया गया जहां उनकी गंभीर हालत को देखते हुए डॉक्टरों ने प्राथमिक उचार के बाद पुलिस के पहुंचने से पहले पीएमसीएच रफर कर दिया।ड्ढr ड्ढr डॉक्टरों के मुताबिक उपेन्द्र के शरीर का अधिकांश हिस्सा जलने के साथ ही आंखें भी खराब हो गई है।ड्ढr इस खौफनाक खेल के मूल में उपेन्द्र और उनके चचेर भाइयों ओंकार व लालमोहन वर्मा के बीच जमीन-जायदाद को लेकर चल रही पुरानी रंजिश है। हमलावर रामलखन वर्मा लालमोहन के दूर का रिश्तेदार है। पहले से चल रहे विवाद में लालमोहन फिलहाल जेल में बंद है। घटना रात करीब 8 बजे रात उस समय हुई जब पालीगंज स्थित जय मां काली नर्सिग होम के संचालक व कुरकुरी गांव निवासी उपेन्द्र वर्मा गांव में ही पड़ोसी साधुशरण वर्मा के दालान पर बैठ कर लोगों से बातचीत कर रहे थे। इसी दौरान रामलखन तेजाब भरा 5 लीटर का गैलन लेकर चुपके से वहां पहुंचा। जब तक लोग कुछ माजरा समझते तब तक वह पूरी गैलन तेजाब उपेन्द्र के शरीर पर गिराते हुए भाग गया। हमलावर पतूत इलाके का निवासी है। कई वर्षो से वह कुरकुरी गांव स्थित लालमोहन के घर पर ही रह रहा है।ड्ढr बताया जाता है कि आपराधिक प्रवृति के रामलखन ने पहले पतूत में कई संगीन वारदातों को अंजाम दिया है। बहरहाल किसके कहने पर और क्यों उसने यह जघन्य खेल खेला, यह उसकी गिरफ्तारी के बाद ही स्पष्ट होगा।ं

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: नर्सिग होम संचालक को तेजाब से नहलायां