DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुजरात दंगा: 23 दोषी करार, 23 हुए बरी

गुजरात दंगा: 23 दोषी करार, 23 हुए बरी

आणंद की एक अदालत ने वर्ष 2002 के गोधरा ट्रेन अग्निकांड के बाद ओडे गांव में हुए दंगे में 23 लोगों को दोषी करार दिया है। इस मामले में सबूत के अभाव में 23 लोगों को बरी कर दिया गया है। दोषी ठहराए गए लोगों को सजा का एलान बाद में किया जाएगा।

ये फैसला जिला एवं सत्र अदालत की न्यायाधीश पूनम सिंह ने सुनाया। अदालत ने 18 लोगों को हत्या का दोषी करार दिया है जबकि बाकी आरोपियों को हत्या की कोशिश का दोषी पाया गया है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद विशेष जांच दल (एसआईटी ) ने इस मामले की जांच की थी।

इस मामले में कुल 47 लोगों को आरोपी बनाया गया था। सुनवायी के दौरान एक आरोपी की मौत हो चुकी है। इस मामले में 150 लोगों की गवाही हुई जबकि 170 से अधिक दस्तावेजी साक्ष्य अदालत में पेश किए गए।

इस केस की सुनवायी वर्ष 2009 के अंत में शुरू हुई थी। मामले की सुनवायी पूरी होने को थी लेकिन इसी दौरान सुनवायी कर रहे न्यायाधीश ने मई 2011 में व्यक्तिगत कारण बताते हुए इस्तीफा दे दिया। इसके बाद पूनम सिंह को न्यायाधीश नियुक्त किया गया और उनके सामने फिर से जिरह हुई।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गुजरात दंगा: 23 दोषी करार, 23 हुए बरी