DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धार्मिक या लोकगीत, रिचा को सब पसंद

धार्मिक या लोकगीत, रिचा को सब पसंद

गायिका रिचा शर्मा को हर तरह के गाने गाना पसंद है, चाहे वह धार्मिक गाने हों या लोकगीत। वह हर तरह के गीतों को अपनी आवाज देना पसंद करती हैं।

अपने गायन करियर के शुरू में जुबैदा, साथिया, कांटे जैसी फिल्मों में अपनी आवाज देने वाली रिचा कहती हैं, एक गायिका के रूप में मैं हर तरह के गाने गाना चाहती हूं, सूफी, लोकगीत, धार्मिक गीत या फिर फिल्मी गीत।

रिचा कहती हैं, किसी भी तरह का गीत गाने के लिए उसके प्रति मन प्राण और आत्मा से समर्पण होना जरूरी है। अगर आप गाते समय उसमें रम नहीं जाएंगे तो आप गायिकी के उस स्तर तक नहीं पहुंच सकते, जहां पहुंचना चाहते हैं।

शास्त्रीय संगीत में पारंगत रिचा ने फिल्मी और गैर फिल्मी तमाम तरह के गीत गाए हैं। वह शनिवार रात एक समारोह में मीडिया के लोगों से बात कर रही थीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:धार्मिक या लोकगीत, रिचा को सब पसंद