DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आतंकवाद पर मनमोहन की जरदारी को दो टूक

आतंकवाद पर मनमोहन की जरदारी को दो टूक

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय संबंधों में प्रगति को लश्कर-ए-तय्यबा के संस्थापक हाफिज सईद और मुंबई आतंकी हमले के अन्य दोषियों पर कार्रवाई से जोड़ते हुए पड़ोसी देश के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी से दो टूक कहा कि दोनों देशों के बीच संबंधों को सामान्य करने के लिहाज से यह महत्वपूर्ण है।

अजमेर शरीफ जियारत के लिए जाने से पहले राष्ट्रीय राजधानी में दो घंटे से अधिक समय के लिए रुके जरदारी से सिंह ने पाकिस्तान के साथ बातचीत जारी रखने की भारत की प्रतिबद्धता दोहरायी लेकिन साथ ही संकेत दिया कि इस बारे में कोई संदेह नहीं होना चाहिए कि इसके लिए आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई अनिवार्य कदम है।

सिंह ने आतंकवाद के मुद्दे को सामने रखते हुए मुंबई आतंकी हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद की गतिविधियों की ओर जरदारी का ध्यान आकर्षित किया। सईद पर अमेरिका ने हाल ही में एक करोड़ डॉलर का इनाम रखा है। जरदारी ने कल लाहौर में कहा था कि उन्हें इस बात की उम्मीद नहीं है कि मनमोहन सिंह सिर्फ इसी मुद्दे पर उनसे बात करेंगे।

विदेश सचिव रंजन मथाई ने संवाददाताओं को बताया कि आतंकवाद का मुद्दा उठाते हुए प्रधानमंत्री ने जरदारी से कहा कि यह जरूरी है कि मुंबई आतंकी हमले के साजिशकर्ता के खिलाफ कार्रवाई हो और पाकिस्तान की जमीन से संचालित हो रही भारत विरोधी गतिविधियों को रोका जाए। उन्होंने सईद की गतिविधियों पर भी चर्चा की।

मथाई के अनुसार सिंह ने जरदारी से कहा कि आतंकवाद की समस्या बड़ा मुद्दा है, जिससे भारत की जनता द्विपक्षीय संबंधों की प्रगति का आकलन करेगी। दोनों नेताओं के बीच करीब 40 मिनट अकेले में बैठक हुई। इस दौरान द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर चर्चा हुई। मीडिया के सामने बयान में जरदारी और सिंह ने बातचीत को रचनात्मक और फलदायक बताया। उन्होंने कहा कि वे कश्मीर, सियाचिन, सर क्रीक सहित विभिन्न मुद्दों के समाधान के लिए कदम दर कदम आगे बढ़ने का रुख अपनाने पर सहमत हुए हैं।

सिंह ने जरदारी और उनके बेटे बिलावल सहित पाकिस्तान से आए 40 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल के सम्मान में अपने आवास पर दोपहर भोज दिया। इसमें विदेश मंत्री एसएम कृष्णा, गृह मंत्री पी चिदंबरम, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, भाजपा नेता सुषमा स्वराज और लालकृष्ण आडवाणी तथा पाकिस्तान के गृह मंत्री रहमान मलिक शामिल हुए।

सईद पर प्रधानमंत्री की टिप्पणी पर जरदारी की प्रतिक्रिया पूछने पर मथाई ने कहा कि पाकिस्तान के राष्ट्रपति ने महसूस किया कि इस बारे में आगे और चर्चा की आवश्यकता है। दोनों देशों के गह सचिवों को चूंकि जल्द ही बैठक करनी है इसलिए उस समय इस मुद्दे पर चर्चा होगी।

इस बीच राजनयिक सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री ने आतंकवाद के मुद्दे पर प्रमुखता से चर्चा की। उन्होंने कहा कि वह भारत और पाकिस्तान के बीच सामान्य संबंध चाहते हैं और उस दिशा में आगे बढ़ने के लिए आतंकवाद के संबंध में विशेषकर मुंबई आतंकी हमले के साजिशकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई हमारी उम्मीदों में से एक है।

सूत्रों के मुताबिक सिंह ने जरदारी से कहा कि संबंधों में प्रगति के लिए यह बात मन में रखी जा सकती है। मथाई ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच व्यापारिक संबंधों को सुधारने के बारे में भी चर्चा की गई। दोनों देशों के वाणिज्य मंत्री इस संबंध में विस्तार से चर्चा कर चुके हैं और आगे बढ़ने का एक रास्ता तय किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने इस बात की सराहना की कि पाकिस्तान द्विपक्षीय व्यापार के मामले में आगे बढ़ा है।

इससे पहले प्रेस को दिए बयान में सिंह ने कहा कि राष्ट्रपति जरदारी और मेरे बीच भारत पाकिस्तान के बीच संबंधों को प्रभावित करने वाले सभी द्विपक्षीय मसलों पर विचारों का रचनात्मक एवं दोस्ताना ढंग से आदान प्रदान हुआ।
 
उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति जरदारी निजी यात्रा पर आए हैं और मैंने उनकी इस यात्रा का उपयोग सभी द्विपक्षीय मसलों पर चर्चा कर किया और मैं इस यात्रा के नतीजे से काफी संतुष्ट हूं। राष्ट्रपति जरदारी ने मुझे पाकिस्तान आने का न्यौता दिया है। मुझे परस्पर सहमति के आधार पर तय तारीख में पाकिस्तान यात्रा करने में खुशी होगी।
 
सिंह ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच संबंध सामान्य होने चाहिए। यह हमारी साझा इच्छा है। हमारे बीच कई मुद्दे हैं और हम सभी मुद्दों का व्यावहारिक समाधान चाहते हैं। मैं और राष्ट्रपति जरदारी यही संदेश देना चाहते हैं।
 
बातचीत को फलदायक करार देते हुए जरदारी ने कहा कि हम भारत के साथ बेहतर संबंध चाहेंगे। हमने सभी उन मुद्दों पर चर्चा की जिन पर चर्चा हो सकती थी और उम्मीद है कि हम पाकिस्तान की धरती पर जल्द मिलेंगे। मथाई ने कहा कि सिंह की पाकिस्तान यात्रा के बारे में इस संबंध में मुकम्मल तैयारियों के बाद तय किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आतंकवाद पर मनमोहन की जरदारी को दो टूक