DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत आने से पहले कयानी-गिलानी से मिले जरदारी

भारत आने से पहले कयानी-गिलानी से मिले जरदारी

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की भारत यात्रा की पूर्व संध्या पर प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी और सेना प्रमुख जनरल अश्फाक परवेज कयानी के साथ हुई बैठक में लश्कर-ए-तैयबा संस्थापक हाफिज सईद के मुद्दे पर भी चर्चा हुई। गौरतलब है कि अमेरिका ने हाल में ही सईद के सिर पर एक करोड़ डॉलर के इनाम की घोषणा की है।

विदेश मंत्री हिना रब्बानी खार, गृह मंत्री रहमान मलिक और विदेश सचिव जलील अब्बास जिलानी भी शनिवार रात हुई बैठक में मौजूद थे। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सईद के सिर पर एक करोड़ डॉलर के इनाम की घोषणा की वजह से शीर्ष असैन्य और सैन्य नेतृत्व के बीच बैठक की आवश्यकता पड़ी। यह बैठक यहां गवर्नर हाउस में हुई।

जरदारी भारत पहुंच गए हैं और वह अजमेर स्थित ख्वाजा मोइनुददीन चिश्ती की दरगाह पर जियारत करने के लिए भारत की निजी यात्रा पर गए हैं लेकिन दोपहर के भोजन पर उनकी प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ मुलाकात निर्धारित है।

गवर्नर हाउस के सूत्रों ने बताया कि बैठक के दौरान राष्ट्रपति ने अपनी भारत यात्रा को लेकर सेना प्रमुख और प्रधानमंत्री को विश्वास में लिया। राष्ट्रपति के प्रवक्ता फरहतुल्ला बाबर ने बताया कि बैठक के दौरान सुरक्षा हालात पर चर्चा की गई।

बाबर ने कहा कि प्रधानमंत्री और सेना प्रमुख के साथ एक अलग बैठक की और सियाचिन में शनिवार को हुए भारी हिमस्खलन में फंसे कम से कम 100 सैनिकों को बचाने के लिए तलाशी एवं बचाव अभियान पर चर्चा की।

घटना को लेकर गंभीर चिंता जताते हुए राष्ट्रपति ने जोर दिया कि तलाशी एवं बचाव अभियान में सभी संसाधनों को लगाया जाना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारत आने से पहले कयानी-गिलानी से मिले जरदारी