अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जापान: ग्रीन हाऊस गैसों के उत्सर्जन में रिकार्ड बढ़ोत्तरी

जापान में वर्ष 2007-08 में पर्यावरण को सर्वाधिक नुकसान पंहुचाने वाली ग्रीन हाऊस गैसों के उत्सर्जन में रिकार्ड तोड बढ़ोत्तरी हुई है।सरकार की आेर से बुधवार को इस बारे में जारी किए गए आंकडों में यह बात उजागर हुई। स्थानीय मीडिया रिपोटर्ों के अनुसार इससे जापान पर जलवायु से जुड़े क्योटो संधि के तहत ग्रीन हाऊस गैसों के उत्सर्जन में कमी लाने संबन्धी उसके दावे से दूर हटने के आरोप तेज होंगे। क्योटो समझौते के तहत जापान को 2008 से 2012 के बीच की अवधि में कार्बन डाई आक्साईड (सीआेटू) और अन्य ग्रीन हाऊस गैसों के उत्सर्जन में 10 के स्तर से भी छह प्रतिशत की कमी करने का लक्ष्य है। इसके तहत उसे हर साल सीआेटू के उत्सर्जन में 1.186 अरब टन की कमी करनी होगी। सरकारी आंकडों के अनुसार जापान में इस साल मार्च तक सीआेटू का 1.372 अरब टन उत्सर्जन हो चुका है। उत्सर्जन में यह 2.3 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी है। अब क्योटो संधि के लक्ष्य को हासिल करने के लिए जापान को प्रतिशत की कटौती करते हुए 2012 तक हर साल 1.254 अरब टन सीआेटू की कटौती करनी होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जापान: ग्रीन हाऊस गैसों के उत्सर्जन में बढ़ोत्तरी