DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रॉयल्स की जीत के नायक बने रहाणे और कूपर

रॉयल्स की जीत के नायक बने रहाणे और कूपर

युवा बल्लेबाज अजिंक्या रहाणे मात्र दो रन से पांचवें इंडियन प्रीमियर लीग का पहला शतक जमाने से चूक गये लेकिन उनकी बेशकीमती पारी और केवोन कूपर के उम्दा प्रदर्शन से राजस्थान रायल्स ने शुक्रवार को यहां किंग्स इलेवन पंजाब को 31 रन से शिकस्त दी।

सवाई मानसिंह स्टेडियम का विकेट बल्लेबाजी के अनुकूल था और रहाणे ने इसका पूरा फायदा उठाकर 66 गेंद पर 16 चौकों और एक छक्के की मदद से 98 रन की जबर्दस्त पारी खेली। उन्होंने कप्तान राहुल द्रविड़ (28) के साथ पहले विकेट के लिये 77 रन और ब्रैड हाज (21) के साथ तीसरे विकेट के लिये 72 रन की साझेदारी की जिससे राजस्थान ने पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर चार विकेट पर 191 रन बनाये।

कप्तान एडम गिलक्रिस्ट (18 गेंद पर 27 रन) ने किंग्स इलेवन को तेज शुरुआत दी जबकि बाद में मनदीप सिंह ने 34 रन की पारी खेली लेकिन लगातार विकेट गंवाने के कारण पंजाब की टीम नौ विकेट पर 160 रन ही बना पायी। आईपीएल में पहला मैच खेल रहे कैरेबियाई कूपर ने 25 रन देकर चार विकेट लेने के अलावा दो बेहतरीन कैच भी लिये।

रहाणे शुरू से ही गेंदबाजों पर हावी हो गये। उन्होंने शुरू में विशेषरूप से प्रवीण कुमार को निशाने पर रखा जिनके एक ओवर में दायें हाथ के इस बल्लेबाज ने चार चौके लगाये। इससे पहले उन्होंने जेम्स फाकनर की लगातार दो गेंद को सीमा रेखा पार पहुंचाया था।

द्रविड़ तीन चौके जमाने के बाद हरमीत सिंह की गेंद पर कैच देकर पवेलियन लौटे। पीयूष चावला ने नये बल्लेबाज अशोक मनेरिया को बोल्ड करके उन्हें खाता भी नहीं खोलने दिया। लेकिन रहाणे के प्रयास से राजस्थान रायल्स का स्कोर 13वें ओवर में 100 रन के पार पहुंच गया।

इस 23 वर्षीय बल्लेबाज ने वलथाटी के अगले ओवर में गेंदबाज के सिर के उपर से छक्का जड़कर टवेंटी-20 में अपने पिछले सर्वश्रेष्ठ स्कोर (62) को पार किया और फिर अगली गेंद पर चौका लगाया। रहाणे ने चावला की लगातार तीन गेंदों को कड़ा सबक सिखाकर सीमा रेखा के दर्शन कराये। हाज ने फाकनर के अगले ओवर की पहली गेंद पर छक्का जमाया लेकिन अगली गेंद धीमी थी जिस पर वह चूक गये और बोल्ड होकर डगआउट में पहुंचे।

जब पारी का आखिरी ओवर शुरू हुआ तो रहाणे को शतक के लिये तीन रन की दरकार थी। उन्होंने पहली गेंद पर एक रन बनाया। ओवैस शाह (नाबाद 14) ने अगली गेंद पर एक रन लेकर रहाणे को सैकड़ा पूरा करने का मौका दिया लेकिन वह लंबा शाट खेलने के प्रयास में बोल्ड हो गये। फाकनर का यह दूसरा विकेट था। कूपर ने बाकी बची तीन गेंद पर छक्के और चौके की मदद से 11 रन बटोरे।

कूपर ने बाद में गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण में कमाल दिखाया तथा किंग्स इलेवन के पहले पांच विकेट गिराने में अहम भूमिका निभायी। गिलक्रिस्ट ने सिद्धार्थ त्रिवेदी पर दो चौके लगाकर शुरुआत की तथा योहान बोथा पर चौका और छक्का लगाया। इससे चौथे ओवर तक स्कोर 35 रन पहुंच गया लेकिन अमित सिंह के अगले ओवर में धीमी गेंद को उठाकर मारने के प्रयास में गिलक्रिस्ट ने कूपर को कैच थमा दिया।

पिछले साल शतक जड़कर सुर्खियां बटोरने वाले पाल वलथाटी केवल 13 रन बनाकर डगआउट में पहुंचे। अब कूपर गेंदबाज और क्षेत्ररक्षक अमित थे जिन्होंने थर्डमैन पर बेहतरीन कैच लपका। शान मार्श (7) से काफी उम्मीदें थे लेकिन वह कूपर के अगले ओवर में द्रविड़ को कैच दे बैठे।

विकेटों का पतन शुरू हो गया था। अभिषेक नायर (10) ने कूपर पर छक्का जमाया लेकिन इसी ओवर में तेजी से उठती आखिरी गेंद पर वह विकेटकीपर श्रीवत्स गोस्वामी को कैच देकर किंग्स इलेवन को मक्षधार में छोड़ गये।

गिलक्रिस्ट की अगुवाई वाली टीम में चारों विदेशी खिलाड़ी आस्ट्रेलियाई थे लेकिन इनमें से कोई भी कमाल नहीं दिखा पाया। डेविड हस्सी (13) तेजी से रन बनाने के दबाव में त्रिवेदी की धीमी गेंद लांग आन पर उछाल गये जहां कूपर खड़े थे।

पंजाब के आखिरी पांच ओवर में 75 रन चाहिए थे। छठे विकेट के लिये 37 रन जोड़ने वाले मनदीप और बिपुल शर्मा (18) दोनों पर इसका दबाव साफ दिख रहा था। बायें हाथ के गेंदबाज अंकित चव्हाण ने इसका फायदा उठाकर 16वें ओवर में इन दोनों को पवेलियन भेज दिया।

बिपुल ने गेंद हवा में लहरायी तो मनदीप बोल्ड हुए। पीयूष चावला (10) और प्रवीण कुमार (10) ने छक्के जमाये लेकिन इससे हार का अंतर ही कम हो पाया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रॉयल्स की जीत के नायक बने रहाणे और कूपर