DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूनेस्को धरोहर बनेगा टाइटेनिक का मलवा

यूनेस्को धरोहर बनेगा टाइटेनिक का मलवा

उत्तरी अटलांटिक की तलहटी में करीब 100 वर्षों तक रहने वाला टाइटेनिक जहाज का अवशेष संयुक्त राष्ट्र के सांस्कृतिक संस्था यूनेस्को की संरक्षा में आएगा जो कि पानी के भीतर जहाजों, खूबसूरत गुफाओं और अन्य सांस्कृतिक अवशेषों का संरक्षण करता है।

अभी तक टाइटेनिक जहाज का अवशेष यूनेस्को के पानी के भीतर सांस्कृतिक विरासत की संरक्षा के लिए समझौते के अंतर्गत नहीं आया था जो कि ऐसे अवशेष पर ही लागू होता है जो कि पानी के भीतर 100 वर्षों से अधिक समय से डूबा हुआ है।

वर्ष 2012 में टाइटेनिक जहाज के डूबने की 100वीं बरसी मनाये जाने के साथ ही इसका अवशेष अब यूनेस्को संधि के तहत आ जाएगा। यूनेस्को के महानिदेशक इरिना बोकोवा ने एक बयान में कहा कि टाइटेनिक जहाज का डूबना मानवता की स्मृति में है और मुझे इस बात की प्रसन्नता है कि यह स्थल यूनेस्को संधि के तहत आ जाएगा।

बोकोवा ने गोताखोरों से कहा कि वे टाइटेनिक स्थल पर उपकरण, स्मरणीय टुकड़े नहीं डालें। उल्लेखनीय है कि टाइटेनिक जहाज अपनी पहली ही यात्रा के दौरान उत्तरी अटलांटिक में एक हिमशैल से टकराने के चलते 14 अप्रैल 1912 की रात में डूब गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूनेस्को धरोहर बनेगा टाइटेनिक का मलवा