गरीब देशों कचचो मिलेगी सौ अरब डॉलर कचची मदद - गरीब देशों कचचो मिलेगी सौ अरब डॉलर कचची मदद DA Image
8 दिसंबर, 2019|1:10|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गरीब देशों कचचो मिलेगी सौ अरब डॉलर कचची मदद

दुनिया के गरीब मुल्कों को वैश्विक आर्थिक मंदी के प्रभाव से निबटने में मदद के लिए विश्व बैंक ने 100 अरब डालर की आर्थिक मदद का आश्वासन दिया है। ‘द न्यूज’ के मुताबिक विश्व बैंक की ओर से यह आश्वासन अंतरराष्ट्रीय वित्त प्रणाली के पुनर्गठन और निगरानी की नई व्यवस्था पर विचार के लिए औद्योगिक रूप से विकसित जी-20 देशों के समूह की अगले 15 नंवबर को वाशिंगटन में आयोजित बैठक के पहले आया है। बैंक की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि गरीब मुल्कों को यह सहायता राशि अगले तीन वर्षों में चरणबद्ध तरीके से दी जाएगी। इसके अलावा पुनर्निर्माण और विकास बैंक की ओर से दी जाने वाली सहायता भी मौजूदा 13.5 अरब डालर से बढाकर 35 अरब डालर से ज्यादा कर दी जाएगी। बयान के मुताबिक बैंक की ओर से आर्थिक मदद में वृद्धि से गरीब मुल्कों की निर्धन जनता को मदद के साथ ऐसे मुल्कों में दीर्घकालीन विकास के लिए लंबी अवधि का निवेश भी किया जा सकेगा। विश्व बैंक के अध्यक्ष राबर्ट जोलिक ने इस मौके पर कहा, ‘जी-20 बैठक में हिस्सा लेने वाले नीतिनिर्धारकों को भविष्य की योजना बनाते वक्त आर्थिक संकट के साथ साथ मानवीय संकट पर भी ध्यान देना होगा क्योंकि किसी भी नीति या व्यवस्था से सबसे ज्यादा गरीब लोग ही प्रभावित होते हैं।’ उधर, वाशिंगटन में शनिवार को होने वाले समूह 20 के शिखर सम्मलन मं वैश्विक वित्तीय संकट का कोई अंतिम हल खोजन क बजाय इसस निपटन क लिए कार्य प्रक्रिया आरंभ किए जान की अधिक संभावना है। अमरिकी राष्ट्रपति जार्ज बुश न प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सहित समूह 20 क राष्ट्राध्यक्षों को 15 नवंबर को मौजूदा आर्थिक संकट क हल पर चर्चा क लिए आमंत्रित किया है। शिखर सम्मलन मं अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) क महानिदशक डोमिनिक स्ट्रास काह्न् और विश्व बैंक क अध्यक्ष राबर्ट जोलिक तथा संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून की उपस्थिति भी होगी। सम्मलन की तैयारी मं लग राजनयिकों क अनुसार बैठक क बाद तीन परिदृश्य सामन आ सकत हैं। इनमं सिद्धांतों पर अधिक जोर दन, आर्थिक संकट को हल करन क किसी परिणाम मूलक उपाय पर और एक नए नियामक तंत्र की स्थापना क लिए आग बढ़न का फैसला हो सकता है। हाल ही मं एक नए बट्रन वुड्स समझौत क प्रस्ताव को व्यापक समर्थक मिला है। गौरतलब है कि द्वितीय विश्वयुद्ध क बाद वर्ष 1मं बट्रन वुड्स समझौत स ही आईएमएफ और विश्व बैंक की स्थापना हुई थी। लकिन एक नए बट्रन वुड्स समझौत की तैयारी क लिए काफी अधिक समय लगगा और मौजूदा आर्थिक संकट को टालन क लिए तुरंत प्रभावी उपाय करन की आश्यकता है। आशा है कि वाशिंगटन शिखर सम्मलन मं एक नई वैश्विक वित्तीय व्यवस्था क निर्माण स पहल कई कार्यसमूहों क गठन और बैठकों की श्रृंखला आयोजित करन पर सहमति कायम हा सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गरीब देशों कचचो मिलेगी सौ अरब डॉलर कचची मदद