DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हजारीबाग में एक हजार से अधिक हुए चोटिल

रामनवमी महोत्सव मंगलवार की देर रात बिना किसी बड़ी वारदात के समाप्त हो गया। लगातार 36 घंटे तक चले झांकी और अस्त्र-शस्त्र कला कौशल प्रदर्शन के दौरान एक हजार से अधिक लोग चोटिल हो गए, जबकि कई बार विभिन्न क्लबों-अखाड़ों के सदस्य आपस में ही भिड़ गए।

इंद्रपुरी चौक के पास मटवारी और कोलघट्टी के अखाड़े आगे जाने के सवाल पर भिड़ गए। मारपीट हुई और तोड़फोड़ के बाद भगदड़ मची। इस तरह बिहारी दुर्गा मंडप के समीप नवयुवक दल पूजा समिति वभनवै और केकेएम क्लब पेलावल पर अचानक कुछ लोग लाठियां बरसाने लगे।

इसके बाद अफरा-तफरी मच गई। वाहनों के शीशे तोड़े गए। प्रशासन के प्रयास से मामला निबटा। इसमें रामनवमी महासमिति के अध्यक्ष अनमोल साव और अमरदीप यादव जब बीच-बचाव कर रहे थे, तो 50 से अधिक युवकों का जत्था अचानक तलवार लेकर उन्हें खदेड़ने लगा। दोनों ने डीसी-एसपी के निगरानी टावर पर चढ़ कर जान बचायी। वहां पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा।

अस्त्र-शस्त्र कला कौशल प्रदर्शन के दौरान किसी का माथा फटा, किसी का हाथ कटा, तो किसी के शरीर के अन्य हिस्सों में चोटें आईं। रात भर एक दजर्न से अधिक संस्थाओं के नि:शुल्क चिकित्सा शिविर में मरहम-पट्टी होती रही। सदर अस्पताल में भी ऐसे मरीजों की कतार लगी रही। सोमवार की रात से मंगलवार की रात आठ बजे तक छह सौ मरीज सदर अस्पताल पहुंचे। इनमें चार को भर्ती करना पड़ा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हजारीबाग में एक हजार से अधिक हुए चोटिल