DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमेरिका को जिंदा या मुर्दा चाहिए हाफिज सईद

अमेरिका को जिंदा या मुर्दा चाहिए हाफिज सईद

ओसामा बिन लादेन के बाद भारत के खिलाफ लगातार जहर उगलने वाला हाफिज सईद अब अमेरिका के निशाने पर आ गया है। अमेरिका ने दुनिया के सर्वाधिक खतरनाक मोस्ट वांटेड आतंकवादियों की एक सूची जारी की है। इसमें हाफिज सईद शीर्ष पर है।

26/11 को मुंबई पर हुए आतंकवादी हमले के मास्टर माइंड हाफिज सईद के सिर पर करीब (10 मिलियन यूएस डॉलर) 50 करोड़ रुपये का इनाम रखा गया है।
 
अमेरिका ने पाकिस्तान स्थित प्रतिबंधित संगठन जमात-उद-दावा के प्रमुख और मुंबई आतंकी हमले के सरगना हाफिज सईद पर एक करोड़ डालर यानी 50 करोड़ रुपये के इनाम की घोषणा की है। राजनीतिक मामलों के लिए अमेरिकी उप विदेश मंत्री वेंडी शर्मन ने यहां अमेरिकन सेंटर में एक सभा को संबोधित करते हुए इसकी घोषणा की। उनसे पूछा गया था कि भारत में आतंकी हमलों में शामिल लोगों को कानून के दायरे में लाने के लिए अमेरिका क्या कर रहा है।
 
आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के संस्थापक सईद भारत की सर्वाधिक वांछित अपराधियों की सूची में शामिल है। मुंबई की 26/11 की घटना में 166 लोग मारे गए थे। उस हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान से उसे सौंपने को कहा था। चार दिन की भारत यात्रा पर आयी शर्मन ने यहां विदेश सचिव रंजन मथाई सहित अन्य भारतीय अधिकारियों से मुलाकात की और भारत-अमेरिका संबंधों से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर विचार विमर्श किया।
 
उन्होंने जून के मध्य में वाशिंगटन डीसी में होने वाली भारत अमेरिका रणनीतिक वार्ता के एजेंडा पर भी चर्चा की। शर्मन आज बिहार रवाना हो रही हैं। ऐसी किसी वरिष्ठ अमेरिकी अधिकारी की यह पहली बिहार यात्रा होगी। भारत के बाद शर्मन नेपाल जाएंगी और वहां वह प्रधानमंत्री बाबूराम भट्टाराई सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात करेंगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अमेरिका को जिंदा या मुर्दा चाहिए हाफिज सईद