DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

व्रत और त्योहार/पंचांग (मंगलवार, 3 अप्रैल 2012)

कामदा एकादशी व्रत सबका। श्री लक्ष्मीकांत दोलोत्सव। सूर्य उत्तरायण। सूर्य दक्षिण गोल। बसंत ऋतु। सायं 3 बजे से सायं 4 बजकर 30 मिनट तक राहूकालम्।
3 अप्रैल मंगलवार, 14 चैत्र (सौर) शक 1934, चैत्र मास 20 प्रविष्टे 2069, 10 जमादि उल अव्वल सन् हिजरी 1433, चैत्र शुक्ल एकादशी मध्याह्न 12 बजकर 33 मिनट तक उपरांत द्वादशी, आश्लेषा नक्षत्र प्रात: 9 बजकर 7 मिनट तक तदनन्तर मघा नक्षत्र, शूल योग रात्रि 1 बजकर 31 मिनट तक पश्चाते गण्ड योग, विष्टि (भद्रा) करण मध्याहन 12 बजकर 23 मिनट तक, चंद्रमा प्रात: 9 बजकर 7 मिनट तक कर्क राशि में उपरांत सिंह राशि में।            

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:व्रत और त्योहार/पंचांग (मंगलवार, 3 अप्रैल 2012)