अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नीतीश तो मेरे छोटे भाई हैं,माफ करता हूं:लालू

मंच पर बांए रल मंत्री लालू प्रसाद, दाहिने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बीच में रसायन व उर्वरक मंत्री रामविलास पासवान। बरौनी उर्वरक कारखाने के शिलान्यास के मौके पर श्री प्रसाद और श्री कुमार आपस में कम बतियाये लेकिन एक-दूसर पर हंसी-हंसी में ही निशाना जमकर साधा। कई बार तो दोनों नेताओं ने लोकसभा चुनाव के करीब होने का अहसास भी दिला दिया। दोनों ने जब मिल-ाुलकर विकास की बात की तो लोगों ने जमकर ताली बजाई और जब दोनों ने एक-दूसर को निशाने पर लिया तो जमकर ठहाके लगे।ड्ढr ड्ढr शुरूआत तो लालू प्रसाद ने ही की। दोनों की चुहलबाजी के दौरान श्री पासवान चुपचाप मंद-मंद मुस्कुराते रहे। श्री प्रसाद ने अपने भाषण के दौरान कहा कि वे जब भी बिहार में विकास के लिए रलवे का काम करते हैं तो नीतीश कुमार कहते हैं कि यह काम तो उन्होंने ही शुरू किया था। हम इसको अन्यथा नहीं लेते और इसके लिए भी नीतीशजी को धन्यवाद देते हैं। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार तो उनके छोटे भाई हैं। छोटा भाई गलती तो करता ही रहता है। इसके लिए वे उन्हें दिल से माफ कर देते हैं।ड्ढr ड्ढr उन्होंने यह भी कहा कि वे भीतर से नीतीशजी को बहुत मानते हैं। इसपर नीतीश कुमार कहां चूकने वाले थे। उन्होंने कहा कि उन्हें सोनपुर मेला के उद्घाटन में जाना है नहीं तो वे लालूजी की बात का मीठा-मीठा जवाब देते। उन्होंने कहा कि जब वे रल मंत्री थे तो रलवे के कार्यक्रमों में लालू प्रसाद और राबड़ी देवी दोनों को बुलाते थे। लालू प्रसाद रल मंत्री बनने के बाद अपने कार्यक्रमों में उन्हें नहीं बुलाते हैं। उन्होंने श्री प्रसाद से कहा- अर, एकाध प्रोग्राम में हमें भी बुलाइये। हम सब लोग चलेंगे। वहां आपकी बड़ाई ही करंगे, आलोचना नहीं करंगे। साथ में बैठकर किसी की शिकायत करना बिहार के संस्कार में नहीं है। श्री कुमार ने कहा कि चुनाव के समय हम तीर चलाएंगे, पासवानजी झोपड़ी लेकर घूमेंगे और आप लालटेन लेकर चलियेगा। उस समय हम यह भी कहेंगे कि यह युग लालटेन जलाने का नहीं, बिजली का है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नीतीश तो मेरे छोटे भाई हैं,माफ करता हूं:लालू