अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भूख से किसी को मरने नहीं दिया जायेगा: शिबू

झारखंड राज्य बनने के बाद भी आदिवासियों की आर्थिक स्थिति में बदलाव नहीं आया है। वे जहां थे, वहीं हैं। लोगों को अपने हक के लिए एकजुट होना होगा। उक्त बातें मुख्यमंत्री शिबू सोरन ने कहीं। वे आदिवासी बाल विकास विद्यालय, रातू में आयोजित कार्तिक उरांव जयंती समारोह में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि भूख से किसी को मरने नहीं दिया जायेगा। उन्होंने पारा शिक्षकों के नेताओं से 20 नवंबर को वार्ता कर इसके समाधान की उम्मीद जतायी। समारोह की अध्यक्षता करते हुए मंत्री बंधु तिर्की ने कहा कि कस्तूरबा गांधी विद्यालय में अब सौ छात्राओं को दसवीं तक शिक्षा दी जायेगी। समारोह की शुरुआत दीप प्रजवलित कर की गयी। इसके बाद अतिथियों को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया। इससे पूर्व, मुख्मंत्री हेलीकॉप्टर से समारोह स्थल तक आये और कार्तिक उरांव की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया तथा पौधारोपण किया। समारोह का संचालन और धन्यवाद ज्ञापन डॉ लक्ष्मण उरांव ने किया। मौके पर महासचिव तेज प्रताप भगत, दुर्गा कच्छप, जेपी मिश्रा, पीएन सिंह, प्रवीण , मधु मंसूरी, मुकुंद नायक, तिनकौड़ी साहू, इसराजूल आदि मौजूद थे।ड्ढr आदिवासियों को शिक्षित बनाना लक्ष्य : कुाूरड्ढr रातू। कार्तिक बाबू ने आदिवासियों को एक अलग पहचान दिलायी है। आदिवासियों को शिक्षित बनाकर उनके सपने को साकार करना ही उनका एक मात्र लक्ष्य है। यह बातें सूचना आयुक्त गंगोत्री कुजूर ने कहीं। वे गुरुवार को छोटानागपुर राज्य उच्च विद्यालय मैदान में आयोजित कार्तिक उरांव जयंती सह जतरा समारोह में बोल रहे थे। समारोह को बुधवा उरांव, सत्यनारायण कुजूर, महेश उरांव ने भी संबोधित किया। संचालन अमर और धन्यवाद ज्ञापन हुसे ने किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भूख से किसी को मरने नहीं दिया जायेगा: शिबू