अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोड़ा के करीबियों के खिलाफ मोरचा खोला

भाजपा विधायक सरयू राय ने एक बार फिर पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा के करीबी विनोद सिन्हा, संजय चौधरी एंड कंपनी पर हमला बोला है। उन्होंने आयरन ओर माइंस के काले धन को सफेद करने और चाईबासा के इंडिया डीाल एंड ट्रैक्टर्स कंपनी द्वारा बैंक ऑफ बड़ौदा की चाईबासा शाखा से ट्रैक्टर खरीद के लिए फर्ाी तरीके से ऋण निकासी और इसे चुकाने की सीबीआइ जांच की मांग की है। ऋण भुगतान नहीं किये जाने के कारण बैंक ने किसानों को डिफाल्टर घोषित कर दिया था। विधायक ने अमितोसा कंपनी और विनोद सिन्हा के संबंधों की जांच की भी मांग की है।विधायक सरयू राय ने गुरुवार को बिष्टूपुर स्थित अपने आवास पर प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि विनोद सिन्हा, विकास सिन्हा, सुनील सिन्हा और मनोज सिन्हा के खिलाफ हाइकोर्ट में गबन का केस (संख्या 2552006) दर्ज है। इस केस में हाइकोर्ट से सीबीआइ जांच का अनुरोध करते हुए जानकारी दी गयी है कि चाईबासा के किसानों की फर्ाी सूची एवं जाली दस्तावेज तैयार कर विनोद सिन्हा एंड कंपनी ने सोनालिका ट्रैक्टर खरीदकर और उसे अलाभकर संपत्ति घोषित करा कर गबन किया। विधायक ने हाइकोर्ट से अनुरोध किया है कि इन सभी आरोपियों के खिलाफ सीबीआइ जांच कराने का निर्देश दिया जाये, क्योंकि इन सबों ने बैंक राशि का गबन किया है। विधायक ने कहा कि जब हाइकोर्ट में सुनवाई हुई तो इन लोगों ने अपनी गर्दन बचाने को ललित जन और अरविंद व्यास नामक दो हवाला कारोबारियों से मिल मुंबई में पंजीकृत कंपनी अमितोसा लीजिंग एंड फाइनेंस प्रा. लि. के शेयर खरीदवाये और उसी कंपनी ने डिफाल्टर घोषित किसानों के नाम बकाया 5 करोड़ रुपये का ऋण चुकाया। ये ललित जन और अरविंद व्यास वही लोग हैं जो विनोद सिन्हा- संजय चौधरी एंड कंपनी द्वारा पंजीकृत अलग-अलग कंपनियों में निदेशक हैं और जिनपर मोटी रकम दुबई, बैंकाक और सिंगापुर ट्रांसफर करने का आरोप है। 7 मार्च 2008 को अमितोसा लीजिंग एंड फाइनेंस प्राइवेट लिमिटेड की खरीद हुई। उसके कुछ दिनों पहले तक उस कंपनी का बैंक बैलेंस 78 लाख पये 25 पैसे थे और मात्र एक माह के भीतर पता नहीं कैसे उसने 5 करोड़ रुपये ऋण चुकाने की क्षमता विकसित कर ली। वह भी उन डिफाल्टर बने किसानों का ऋण जिनका अमितोसा कंपनी से दूर-दूर तक कोई लेना-देना नहीं। विधायक को ताज्जुब इस बात का भी है कि राम का मोटा र्का चुकाने को रहीम ने अर्जी दी और बैंक प्रबंधन ने उसे मंजूर भी कर लिया। उन्होंने अमितोसा कंपनी और इंडिया ट्रैक्टर्स के मालिकों के बीच संबंधों की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कोड़ा के करीबियों के खिलाफ मोरचा खोला