DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक फौचाों ने 50 तालिबानी मारे

वात घाटी से बाहर अपना नियंत्रण बढ़ाने के मंसूबों से पश्चिमोत्तर सीमा प्रांत के बुनेर जिले तक घुस आए तालिबानियों को खदेड़ने के लिए पाकिस्तानी सेना ने लगातार दूसरे दिन बुधवार को भी हमले जारी रखे। करीब 50 तालिबानियों को मार गिराते हुए सेना ने जिले के एक महत्वपूर्ण कस्बे डग्गर पर नियंत्रण कर लिया। पहाड़ी इलाकों में मोर्चाबंद तालिबान पर हमले के लिए कमांडो को हेलीकॉप्टर से उतारा गया और जेट लड़ाकू विमानों, हेलीकॉप्टरों और अत्याधुनिक हथियारों से धावा बोला गया। सना प्रवक्ता न बताया कि एक अलग ऑपरशन में सेना ने तालिबान द्वारा बंधक बनाए गए पुलिस और फ्रंटियर कोर क लगभग 70 जवानों में से कम से कम 17 को छुड़ाने में सफलता पाई। इस दौरान इलाके के कई थानों और सार्वजनिक इमारतों को भी मुक्त करा लिया गया। डग्गर कस्बे की आबादी 25 हाार के आसपास है। यह राजधानी इस्लामाबाद से मात्र 100 किलोमीटर के फासले पर है। सेना के मुताबिक, बुनेर जिले में अभी 450 से लेकर 500 तालिबानी आतंकवादी मौजूद हैं। मंगलवार से शुरू हुई कार्रवाई में अब तक 70 से अधिक का सफाया किया जा चुका है। पाकिस्तान क आंतरिक मंत्री रहमान मलिक न ‘ऑपरशन बुनर’ स दश क अन्य हिस्सों मं आतंकवादियों की जवाबी प्रतिक्रिया की आशंका जरूर जताई लेकिन उनका कहना है कि सरकार क अधिकार को जहां भी चुनौती दी जाएगी, वहां सैन्य कार्रवाई होगी। इस बीच तालिबान ने अफगानिस्तान में हमले तेज करने की धमकी दी है। ओबामा खुश : अमेरिका ने पाकिस्तानी कार्रवाई का स्वागत किया है और उम्मीद जताई है कि तालिबानों के खिलाफ यह सिलसिला जारी रहेगा। वॉशिंगटन से मिली रिपोर्टों के मुताबिक, पाकिस्तान के लिए अमेरिका 20 से 40 करोड़ डॉलर की आपात सहायता राशि देने पर विचार कर रहा है। दरअसल तालिबान के पाकिस्तान में बढते वर्चस्व को लेकर अमेरिका बहुत चिंतित है। उसे इस बात को लेकर डर है कि कहीं पाकिस्तान के परमाणु हथियार तालिबान के हाथों में न चले जाएं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पाक फौचाों ने 50 तालिबानी मारे