अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महाराष्ट्र व असम प्रकरण बिहारियों की बड़ी चिंता

महाराष्ट्र व असम की घटनाएं और राज ठाकर की पार्टी मनसे द्वारा बिहारियों के प्रति किया जा रहा दुष्प्रचार। यह सवाल आम बिहारियों को परशान कर रहा है। लोग अंतरराष्ट्रीय समस्याओं से ज्यादा उनको तवज्जो दे रहे हैं, जिससे आम बिहारी सीधे-सीधे जुड़ा हुआ है। मुख्य रूप से इन्हीं प्रश्नों का जवाब लोग ‘हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट 2008’ के माध्यम से अपने राजनैतिक नेतृत्व से करना चाहते हैं।ड्ढr ड्ढr राजधानी के हृदयस्थली गांधी मैदान में आयोजित एनबीटी के पुस्तक मेले में आए लोगों ने शुक्रवार को बड़े ही उत्साह के साथ हस्तियों से पूछे जाने वाले सवाल में अपने प्रश्न को चुने जाने के लिए दर्ज कराया। यह आयोजन आगामी 21-22 नवंबर को नई दिल्ली में होने वाला है, जिसमें देश-विदेश की 20 प्रमुख हस्तियां हिस्सा लेंगी। शुक्रवार को चार दिवसीय कैम्प के दूसर दिन ‘हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट’ की टीम एनबीटी के पुस्तक मेले में आए सुधी पाठकों के बीच रही। लोगों ने कई चुटीले सवाल हस्तियों से पूछे जाने के लिए दर्ज कराए।ड्ढr ड्ढr सबसे ज्यादा सवाल महाराष्ट्र की घटनाओं और राज ठाकर पर कार्रवाई में हो रही देरी को लेकर किए गए। प्रकाश कुमार ने सवाल किया कि राज ठाकर पर कार्रवाई में हो रही देरी का दोषी कौन है? ऐसा ही सवाल सुमित प्रकाश, रितेश कुमार, अजय कुमार, उत्सव सिंह, विशाल कुमार ब्रजेश कुमार पांडेय आदि का था। नीतीश कुमार ने असम में बिहारियों पर हो रहे हमले के बार में सवाल उठाया तो सुरन्द्र का सवाल ‘बिजली, पानी व सड़क की समस्या से लोगों को कब तक निजात मिलेगी’ के बार में था। धीरा कुमार का प्रश्न था कि विश्व को आर्थिक मंदी से कब मुक्ित मिलेगी? इसके साथ ही ग्लोबल वार्मिग, भारत-अमेरिका परमाणु करार से संबंधित प्रश्न भी लोगों ने पूछे। शनिवार को ‘हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट 2008’ की टीम विशाल मेगा मार्ट में कैम्प लगाएगी। जहां दोपहर 12 बजे से रात नौ बजे तक लोगों के सवालों को दर्ज किया जाएगा। इसमें से चुनिंदा सवाल समिट 2008 में शामिल 20 प्रमुख हस्तियों से पूछे जायेंगे।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: महाराष्ट्र व असम प्रकरण बिहारियों की बड़ी चिंता