अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संक्षिप्त खबरें

ल्याणकारी योजनाओं को आमजन तक पहुंचायें: भानूड्ढr रांची। स्वास्थ्य मंत्री भानू प्रताप शाही ने कहा है कि अधिकारियों को सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को आम जनता तक पहुंचाना चाहिए। श्री शाही शुक्रवार को एटीआइ में आयोजित स्टेट सिविल सर्विसेज के नव अधिकारियों के प्रशिक्षण शिविर में बोल रहे थे। इस मौके पर स्वास्थ्य सचिव डॉ प्रदीप कुमार ने कहा कि राज्य में मातृ-शिशु मृत्यु दर अधिक है। यह राष्ट्रीय औसत से कहीं अधिक है। राज्य में संस्थागत प्रसव मात्र 1प्रतिशत है, जो कि राष्ट्रीय औसत 40 से कम है। सरकार महिलाओं और बच्चों की होने वाली मौतों को रोकने के लिए प्रयास कर रही है। इस मौके पर राजद के गिरिनाथ सिंह, बीजेपी के कड़िया मुंडा, विकास भारती के अशोक भगत, रिम्स डायरक्टर डॉ एनएन अग्रवाल, श्री कृष्ण लोक प्रशासन संस्थान के डीाी एके सिंह सहित कई लोगों ने भी अपने विचार रखे।ड्ढr दो पक्षों में मारपीटड्ढr मोरहाबादी स्थित एदलहातु में दो पक्षों के बीच जमकर मारपीट हो गयी। इस संबंध में वीणा देवी ने विजय सिंह, अमन सिंह, चमन सिंह, रमन सिंह पर मारपीट का मामला दर्ज कराया है। वहीं दूसरी ओर विजय सिंह ने भी वीणा देवी पर बरियातू थाना में मामला दर्ज कराया है। पुलिस इस संबंध में छानबीन कर रही है।ड्ढr विधि-विज्ञान का पूर्वालोकन समारोहड्ढr रांची। राज्य विधि विज्ञान प्रयोगशाला का पूर्वालोकन समारोह लाइनटैंक रोड में किया गया। इस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में राज्य के डीजीपी निगरानी व होमगार्ड नेयाज अहमद ने कहा कि इस विज्ञान प्रयोगशाला में आधुनिक उपकरण लगे हुए हैं। इससे पुलिस अनुसंधान में काफी मदद मिलेगी। इस संबंध में प्रोवेजन आइजी एसएन प्रधान ने कहा कि प्रयोगशाला का मुख्य उद्देश्य यह है कि गुनाहकार छूट जाये पर एक बेगुनाह को सजा नहीं मिलनी चाहिये। पुलिस अनुसंधान में विधि-प्रयोगशाला का प्रयोग किया जायेगा और जिन्होंने अपराध किया उन्हें सजा दिलाने में यह प्रयोगशाला काफी उपयोगी साबित होगा। इस प्रयोगशाला में तकनीकी शाखाओं में जीव विज्ञान, सीरम विज्ञान, डीएनए टेस्ट, विष विज्ञान, समान रसायन, नारकोटिक एवं ड्रग, विस्फोटक, भौतिकी एवं आग्नेशास्त्र आधुनिकी उपकरणों से लैस है। समारोह में डीजीपी के अलावा सीआइडी आइजी, जोनल आइजी एके सिन्हा, एसएसपी एमएस भाटिया, विधि-विज्ञान के डायरक्टर अनिल कुमार बापुली, अस्सिटेंट डायरक्टर आरएन सिंह, ट्रैफिक एसपी ददनजी शर्मा, सिटी डीएसपी महेश राम पासवान, थाना प्रभारी रणधीर कुमार सहित अन्य कई लोग शामिल थे।ड्ढr 18 चलंत मोबाइल वैन है प्रयोगशाला के पासड्ढr रांची। राज्य विधि विज्ञान प्रयोगशाला की अपनी 18 चलंत विधि प्रयोगशाला की मोबाइल वैन है। राज्य में 22 जिलों के मद्देनजर इन मोबाइल वैन तो उपलब्ध कराया गया है, ताकि किसी भी बड़ी घटना होने पर घटनास्थल पर पहुंच सके और साक्ष्यों के नमूने को एकत्र कर सके। यह चलंत मोबाइल आधुनिक उपकरणों से लैस है। अब तक 10मामलों का निष्पादनड्ढr होटवार में होगा अपना विधि-विज्ञान भवनड्ढr रांची। विधि प्रयोगशाला में 2008 जनवरी से लेकर 20 अक्तूबर 08 तक राज्य के कई कांडों का निष्पादन किया है, जिसमें रसायन एवं नारकोटिक से संबंधित 624 मामले, जीव विज्ञान सीरम विज्ञान से संबंधित 328 मामले, विस्फोट प्रशाखा से संबंधित 12मामले, अग्निशास्त्र से संबंधित 11 मामले और भौतिक प्रशाखा से संबंधित पांच मामले का निष्पादन किया गया है। विधि विज्ञानप्रयोगशाला को स्थायी तौर पर होटवार में बनाया जायेगा। 25 एकड़ भूमि पर इसका निर्माण कार्य चल रहा है। विशेष तौर पर साइबर फोरसिंक एवं इनवेस्टिंग साइकोलॉजी की इकाईयों की स्थापना की भावी योजना है। साथ ही विशेष तौर पर न्यायिक और पुलिस पदाधिकारियों को भी इसमें प्रशिक्षण दिया जायेगा। साल भर नहीं चल पायी सड़कड्ढr रांची। झारखंड हाईकोर्ट ने 33 करोड़ की लागत से बनी आदित्यपुर- कांड्रा- सरायकेला सड़क के एक साल में ही क्षतिग्रस्त हो जाने पर संबंधित ठेकेदार, पथ निर्माण विभाग के अभियंता प्रमुख, अधिकारी एवं उन सभी संबंधित अधिकारियों को प्रतिवादी बनाने का निर्देश दिया है, जो सड़क निर्माण से जुड़े थे और मरम्मत कार्य की मॉनिटरिंग कर रहे थे। जन कल्याण मोरचा की जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस ज्ञान सुधा मिश्र एवं जस्टिस एमवाइ इकबाल की अदालत ने यह निर्देश दिया। प्रतिवादी बनाने के लिए कोर्ट ने प्रार्थी को एक सप्ताह का समय दिया है। प्रार्थी की ओर से वकील अभय मिश्र और सरकार की ओर से राजेंद्र कृष्ण ने बहस की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: संक्षिप्त खबरें