DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मध्यप्रदेश की सरकार को 'हथियार से प्रेम'

मध्यप्रदेश की सरकार को 'हथियार से प्रेम'

बंदूक, रिवाल्वर, पिस्टल और अन्य हथियार के लाइसेंस की बात आए तो एक अलग सी तस्वीर उभरती है, मगर मध्यप्रदेश की सरकार को हथियारों से प्रेम है, तभी तो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से लेकर 16 अन्य ऐसे मंत्री हैं, जो अपने पास हथियार रखते हैं। हथियार रखने के मामले में मंत्री की पत्नी से लेकर बेटे और महिला मंत्री भी पीछे नहीं है।
 
राज्य सरकार के मंत्रियों द्वारा 2010 में विधानसभा में दिए गए सम्पत्ति के ब्योरे से पता चलता है कि कई मंत्री ऐसे हैं, जिनके पास एक से ज्यादा हथियार हैं। मुख्यमंत्री चौहान सहित 17 मंत्रियों में से अधिकांश की पहली पसंद रिवाल्वर है। चौहान के अलावा आठ मंत्री जयंत मलैया, नरोत्तम मिश्रा, गौरीशंकर बिसेन, पारस जैन, राजेंद्र शुक्ल, हरीशंकर खटीक, महेंद्र हार्डिया, जयराम मरावी ऐसे मंत्री हैं, जिनके पास रिवाल्वर, पिस्टल या बंदूक में से किसी एक का लाइसेंस है।

राज्य सरकार के सात मंत्री ऐसे हैं जिनके पास एक से ज्यादा हथियारों के लाइसेंस हैं। विजय शाह, नागेंद्र सिंह, तुकोजी राव पंवार, उमाशंकर गुप्ता, नारायण सिंह कुशवाहा, बृजेंद्र प्रताप सिंह ऐसे मंत्री हैं जो एक से ज्यादा हथियार रखते हैं। इतना ही नहीं, महिला मंत्री रंजना बघेल भी एक से ज्यादा हथियार रखने वालों में शामिल हैं। इसके अलावा रंजना के पति, विजय शाह की पत्नी और नारायण सिंह कुशवाहा के बेटे के पास भी लाइसेंसी हथियार हैं।

सरकार के 32 मंत्रियों में से 17 मंत्रियों के पास हथियार का लाइसेंस होना यह बताता है कि हथियार प्रेम के मामले में मंत्री भी पीछे नहीं हैं। यह बात दीगर है कि इन्हें हथियार लेकर चलने की जरूरत कम ही पड़ी हो।

राज्य सरकार के कई मंत्री ऐसे हैं जो एक से ज्यादा बार लोकसभा या विधानसभा के सदस्य रह चुके हैं, लिहाजा वर्षो से उन्हें शासन की ओर से सुरक्षा मुहैया है। वर्तमान में मंत्री के तौर पर तो उन्हें चार गार्डो की सुरक्षा मिली हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मध्यप्रदेश की सरकार को 'हथियार से प्रेम'