DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जानिये आम बजट में क्या है खास

जानिये आम बजट में क्या है खास

केंद्रीय वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी ने शुक्रवार को लोकसभा में वर्ष 2012-13 के लिए बजट पेश किया। बजट के मुख्य बिंदू निम्नलिखित हैं:

1. बचत खातों से मिलने वाले ब्याज पर 10,000 रुपये की छूट।

2. कारपोरेट कर में कमी नहीं लेकिन धन आसानी से उपलब्ध कराने के प्रावधान।

3. बिजली, उड्डयन क्षेत्र, सड़क, पुल, सस्ते घरों एवं उर्वरक क्षेत्रों के विदेशी वाणिज्यिक ऋणों पर कर 20 फीसदी से घटाकर पांच फीसदी किया गया।

4. रक्षा बजट 1.93 लाख करोड़ रुपये।

5. राष्ट्रीय कौशल विकास कोष के लिए 1000 करोड़ रुपये का प्रावधान।

6. अर्धसैनिक बलों के लिए चार हजार आवास बनाए जाएंगे और इसके लिए 1,185 करोड़ रुपये का प्रावधान।

7. राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर दो वर्षो में पूरा होगा।

8. विदेशों में जमा कालेधन को वापस लाने के लिए कई कदम उठाए गए हैं, इसी सत्र में श्वेत पत्र लाने के अलावा मुकदमा दर्ज करवाया जाएगा।

9. जलवायु परिवर्तन पर शोध के लिए 200 करोड़ रुपये का प्रावधान।

10. जल संसाधन एवं सिंचाई कम्पनी का संचालन शुरू होगा।

11. राज्य सरकारों के सहयोग से खाद्य प्रसंस्करण का राष्ट्रीय मिशन शुरू होगा।

12. एकीकृत बाल विकाय योजनाओं को मजबूत करने के साथ पुनर्गठन के लिए 15,850 करोड़ रुपये आवंटित।

13. ग्रामीण इलाकों में जलापूर्ति एवं स्वच्छता के लिए 14,000 करोड़ रुपये।

14. सार्वजनिक क्षेत्र को बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों और नाबार्ड में वर्ष 2012-13 में 15,888 करोड़ रुपये डाले जाएंगे।

15. 12वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान आधारभूत संरचना के विकास के लिए 50 लाख करोड़ रुपये की आवश्यकता, आधा निवेश निजी क्षेत्र से।

16. 2011-12 की तुलना में 44 फीसदी अधिक राजमार्ग परियोजनाओं को पूरा करने का लक्ष्य।

17. उड्डयन क्षेत्र के लिए एक अरब डॉलर तक विदेशी वाणिज्यिक ऋण की अनुमति

18. सस्ते मकान बनाने वाली कम्पनियों को विदेशी वाणिज्यक ऋण लेने की अनुमति।

19. 2012-13 में खाद्य सुरक्षा के लिए राजकोषीय सहायता

20. विनिवेश से 30,000 करोड़ रुपये प्राप्त करने का लक्ष्य

21. 10 लाख रुपये की वार्षिक आय सीमा वालों को अंशधारिता में 50,000 रुपये के निवेश पर पर आयकर में 50 फीसदी की छूट।

22. लघु वित्त संस्थाओं, राष्ट्रीय भूमि बैंक एवं सार्वजनिक ऋण प्रबंधन से सम्बंधित विधेयकों को 2012-13 के दौरान प्रस्तुत किया जाएगा।

23. आने वाले वर्षो में कुपोषण, काले धन और सार्वजनिक जीवन में भ्रष्टाचार से निपटना पांच प्राथमिकताओं में शामिल।

24. देश में महंगाई बनावटी है और यह कृषि क्षेत्र के अवरोधों के कारण है।

25. वर्ष 2011-12 में चालू खाता घाटा 3.6 फीसदी रहेगा, जिससे विनिमय दर पर दबाव बढ़ेगा।

26. वर्ष 2012-13 में विकास दर 7.6 फीसदी रहने की उम्मीद, महंगाई में कमी आएगी।

27. सरकारी योजनाओं पर खर्च की बेहतर निगरानी।

28. वित्त वर्ष 2011-12 में अर्थव्यवस्था में सुधार बाधित रही।

29. वर्ष 2011-12 में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की विकास दर 6.9 प्रतिशत रहने का अनुमान।

30. पिछले दो साल से दहाई अंक की मुद्रास्फिति दर पर नियंत्रण पाना चुनौती थी।

31. अच्छी खबर यह है कि कृषि व सेवा क्षेत्र का अच्छा प्रदर्शन रहा। प्रमुख क्षेत्रों में सुधार के साथ समग्र अर्थव्यवस्था की स्थिति बेहतर होने की उम्मीद।

32. अब कठोर निर्णय लेने की आवश्यकता है, सुधारों की गति तेज करने की जरुरत है।

33. 10 लाख रुपये से अधिक की आय पर 30 फीसदी।

34. पांच लाख से 10 लाख रुपये तक आय पर 20 फीसदी आयकर।

35. दो से पांच लाख रुपये तक आय पर 10 फीसदी आयकर।

36. व्यक्तिगत आयकर रियायत सीमा 1 लाख 80 हजार रुपये से बढ़ाकर दो लाख रुपये

37. सिनेमा उद्योग को सेवा कर से छूट।

38. सेवा कर 10 फीसदी से बढ़ाकर 12 फीसदी। 18,660 करोड़ रुपये कर संग्रह का अनुमान।

39. सीमा शुल्क 10 फीसदी से बढ़ाकर 12 फीसदी।

40. लौह अयस्कों के खनन के लिए सहायक उपकरणों के आयात पर सीमा शुल्क 7.5 फीसदी से घटाकर 2.5 फीसदी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जानिये आम बजट में क्या है खास