अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुरोहित ने दिया था आरडीएक्स

समझौता एक्सप्रस ब्लास्ट मं भी लफ्टिनंट कर्नल प्रसाद पुरोहित का हाथ है! एटीएस न नासिक कोर्ट में बताया है कि पराहित की बदौलत ही इस विस्फोट को अंजाम दिया जा सका। एटीएस क मुताबिक पराहित न समझौता एक्सप्रेस में ब्लास्ट के लिए भगवान नाम क एक व्यक्ित को विस्फोटक उपलब्ध कराया था। पराहित क पास 60 किला आरडीएक्स था। समझौता एक्सप्रस मं ब्लास्ट क लिए इसी आरडीएक्स का इस्तमाल किया गया। बाकी बच आरडीएक्स को उसन झलम नदी मं फेंक दिया। इसक अलावा पुराहित न आरडीएक्स मामल मं सना को भी गुमराह किया। अदालत ने सरकारी वकील की दलीलें सुनन के बाद लेफ्टिनेंट कर्नल पुरोहित को 18 नवंबर तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया। लोक अभियोजक अजय मिसार न कहा-लेफ्टिनेंट कर्नल पुरोहित का समझौता एक्सप्रेस विस्फोट से संबंध हैं। उन्होंने भगवान नामक व्यक्ति को आरडीएक्स दिया था। लोक अभियोजक न कहा कि ‘अभिनव भारत‘ के कोषाध्यक्ष अजय रहिरकार न पुरोहित को ढाई लाख रुपए दिए थे। उधर हिंदू राष्ट सेना के कार्यकर्ताओं ने नासिक कोर्ट के समक्ष साध्वी प्रज्ञा सिंह और लेफ्टीनेंट कर्नल पुरोहित के समर्थन में प्रदर्शन किया। इस बीच स्कूल ऑफ आर्टिलरी क कमांडंट लफ्टिनंट जनरल क आर राव न कहा है कि पुरोहित प्रकरण स सना क मनोबल पर कोई असर नहीं हुआ है। 2सितंबर को मालगांव मं हुए विस्फोट मं पुरोहित के शामिल होन का संदेह है। पुरोहित इस समय एटीएस की हिरासत मं है। उनस इस मामल मं पूछताछ की जा रही है।ड्ढr ड्ढr पुरोहित सहित कुछ और सैन्य अधिकारियों को इस मामल मं पकड़ जान क बाद स ही यह बहस छिड़ी हुई है कि इस तरह की घटनाआं स सना क मनोबल पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है। नासिक मं पत्रकारों स बातचीत मं लफ्टिनंट जनरल क आर. राव न कहा कि एक फल क खराब हो जान का मतलब यह नहीं है कि पूरा पड़ ही खराब हो गया। लफ्टिनंट जनरल राव न कहा कि अगर उनका अपराध साबित हो जाता है तो उनक खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। समझौता एक्सप्रेस में हुए बम धमाके के मामले में साध्वी और पुरोहित से पूछताछ के लिए हरियाणा पुलिस का एक दल शुक्रवार को मुंबई पहुंचा। लफ्टिनंट कर्नल पुराहित न नारको टस्ट क दौरान दयानंद पांड को मालेगांव धमाकों का मास्टरमाइंड बताया। एक निजी टीवी चैनल को मिली इस नारको टस्ट रिपोर्ट के अनुसार पुरोहित न कहा कि दयानंद पांड न ही मालगांव धमाकों की साजिश रची थी। टस्ट क दौरान पुरोहित न कबूला कि पांड न ही उस साध्वी प्रज्ञा ठाकुर स मिलवाया था। उसन यह भी बताया कि नांदड़ ब्लास्ट और 11 अक्टूबर 2007 को हुए अजमर ब्लास्ट मं भी पांड ही मास्टरमाइंड था। पुराहित क मुताबिक उसन 500 लागां को आतंकी ट्रनिंग दी थी। अदालत में एटीएस ने खुलासा किया कि दयानंद पांडे ने ही पुरोहित को धमाके के लिए विस्फोटक का इंतजाम करने को कहा था। पांडे ने प्रज्ञा व पुरोहित के साथ 26 जनवरी को फरीदाबाद में और 12 अप्रैल को भोपाल में बैठक की थी। इसी बैठक में पांडे ने पुरोहित को विस्फोटक का इंतजाम करने के लिए कहा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पुरोहित ने दिया था आरडीएक्स