अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अलग छात्रावास बनेगा हर जिले में:मोदी

आप शिक्षित बनें, हम रोगार के अवसर बढ़ाने में जुटे हैं। इसी वाक्य के साथ उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने अति पिछड़े समाज के युवकों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने तीन साल में तीन लाख युवकों को नौकरियां दी हैं। दो लाख युवकों को तो सिर्फ शिक्षक की नौकरी मिली है। अब सरकार अति पिछड़ी जाति के छात्रों के लिए हर जिले में एक अलग छात्रावास बनाने जा रही है। हर छात्रावास में एक सौ छात्र रह सकेंगे। सरकार का उद्देश्य हर जाति और वर्ग के पिछड़े लोगों को आगे बढ़ाना है। सवर्णो में गरीब, दलितों में महादलित और पिछड़ों में अतिपिछड़ों को बराबरी में लाने का हर संभव प्रयास सरकार का है। श्री मोदी शनिवार को श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में अति पिछड़ा कानू महासभा की ओर से आयोजित जन प्रतिनिधि सम्मान समारोह सह प्रतिनिधि सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। आरक्षण के लाभ के लिए हलवाई को भी कानू जाति में समाहित करने के लिए प्रावधानों का अध्ययन कर प्रयास करने का आश्वासन देते हुए उन्होंने कहा कि शिक्षा के अलावा सरकार वंचितों को राजनीति में भी प्रतिनिधित्व देने के लिए हर प्रयास कर रही है। इसी का नतीजा है कि आज आरक्षण का लाभ लेकर अतिपिछड़े समाज से लगभग 1600 लोग सिर्फ मुखिया पद पर जीत कर आये हैं। पहले यह संख्या सिर्फ 150 थी। सूबे में अमन कायम रहे तो 2015 तक विकसित बिहार बनाने के लक्ष्य को प्राप्त करना इस सरकार के लिए कोई कठिन काम नहीं है। तीन वर्ष में एक भी जातीय दंगा नहीं हुआ। सूबे में आपसी मिल्लत का इससे अच्छा उदाहरण और कुछ नहीं हो सकता। समारोह को संबोधित करते हुए पथ निर्माण मंत्री डा. प्रेम कुमार और पंचायतराज मंत्री हरि प्रसाद साह ने अति पिछड़ों के लिए सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की चर्चा की। अध्यक्षता नंद कुमार साह उर्फ नंदू बाबू कर रहे थे तो संचालन हाकीम ने किया।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अलग छात्रावास बनेगा हर जिले में:मोदी