DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

75 एक्सप्रेस व 21 पैसेंजर ट्रेनों की सौगात

75 एक्सप्रेस व 21 पैसेंजर ट्रेनों की सौगात

रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने बुधवार को वर्ष 2012-13 का रेल बजट पेश किया। रेल मंत्री ने 75 एक्सप्रेस और 21 पैसेंजर ट्रेनों की घोषणा करते हुए कहा कि वेटिंग लिस्ट वाले यात्रियों के लिए अलग ट्रेन चलाई जाएगी। उन्होंने कहा कि 100 से ज्यादा रेलवे स्टेशनों को एयरपोर्ट की तरह बनाया जाएगा।

त्रिवेदी ने बजट बनाने में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष सुषमा स्वराज और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी के सहयोग के लिए धन्यवाद किया।

रेल मंत्री ने कहा कि रेलवे सुरक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। त्रिवेदी ने कहा कि वर्तमान में रेलवे के सुरक्षा मानकों से हम संतुष्ट नहीं हैं।

रेल मंत्री ने कहा कि पांच साल में सभी खुले फाटकों पर क्रासिंग बनेंगे। रेल रोड ग्रेड सेपरेशन कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के गठन का ऐलान भी दिनेश त्रिवेदी ने किया। इसके अलावा पृथक रेलवे सुरक्षा प्राधिकरण और रेलवे अनुसंधान एवं विकास परिषद के गठन का ऐलान भी रेल मंत्री ने किया। त्रिवेदी ने कहा कि प्राधिकरण अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप काम करेगा।

दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि 12वीं पंचवर्षीय योजना में रेलवे का योजना व्यय 7.3 लाख करोड रुपये तय किया गया है। त्रिवेदी ने कहा कि 2012-13 में परिचालन खर्च आय का 84.9 प्रतिशत रखने का लक्ष्य रखा गया है।

रेल मंत्री ने कहा कि चीन की गतिविधियों को देखते हुए सीमावर्ती इलाकों में रेल नेटवर्क के विकास पर ध्यान देने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि रेलवे की 487 परियोजनाएं लंबित हैं। उचित बजट राशि मिले बिना दोहरीकरण, विद्युतीकरण से जुडी इन परियोजनाओं को समय से पूरा करना संभव नहीं है।

रेल बजट पेश करते हुए दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि रेलवे के लिए राष्ट्रीय नीति बनाये जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि रेलवे को अगले दस साल में 14 लाख करोड रुपये की आवश्यकता है। 2012-13 के लिए 60,100 करोड रुपये का अब तक का सबसे बडा वार्षिक योजना व्यय है।

रेल मंत्री ने भारतीय रेलवे स्टेशन विकास निगम के गठन का ऐलान भी किया। इसके अलावा मालगाडी शेड के लिए रेलवे लॉजिस्टिक कॉरपोरेशन के गठन का ऐलान भी त्रिवेदी ने किया। उन्होंने कहा कि 2012-13 में 4410 करोड रुपये क्षमता विकास पर खर्च होंगे।

त्रिवेदी ने कहा, ''मेरा जोर सुरक्षा, सुरक्षा, सुरक्षा पर होगा।'' उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष उत्तर प्रदेश में रेल दुर्घटना की पृष्ठभूमि में पद सम्भालने के कुछ ही समय बाद यह निर्णय लिया गया था।

अपने राजनीतिक जीवन का पहला रेल बजट पेश करते हुए त्रिवेदी ने कहा कि मैं रेल यात्रा को दुर्घटना रहित बनाना चाहता हूं। परमाणु ऊर्जा आयोग के पूर्व प्रमुख अनिल काकोदकर की अध्यक्षता वाले विशेषज्ञ समूह की अनुशंसा पर मैं एक स्वतंत्र रेल सुरक्षा प्राधिकरण की स्थापना का प्रस्ताव रखता हूं।

भारतीय रेल 64,000 किमी मार्ग के साथ विश्व का तीसरा सबसे बड़ा नेटवर्क है। इस नेटवर्क पर प्रतिदिन 12,000 यात्री रेलगाड़ी एवं 7,000 मालगाडियां क्रमश: 230 लाख यात्रियों एवं 26.5 लाख टन सामान की ढुलाई करती हैं।

रेल मंत्री ने कहा कि हर साल दस खिलाडियों को रेल खेल रत्न पुरस्कार दिये जाएंगे। इसके अलावा 2012-13 के दौरान रेलवे में एक लाख नई भर्तियां की जाएंगी। उन्होंने कहा कि रेलवे बोर्ड का पुनर्गठन किया जाएगा।

त्रिवेदी ने कहा कि रेलवे बोर्ड में दो नये सदस्य नियुक्त किये जाएंगे। 2012-13 में 21 नई ट्रेनें चलाई जाएंगी। सिख तीर्थस्थलों अमृतसर, पटना साहिब और नांदेड को जोडने वाली विशेष गुरू परिक्रमा ट्रेन चलाई जाएगी। इसके अलावा मुंबई में 75 नई उपनगरीय ट्रेनें चलाई जाएंगी।

रेल मंत्री ने कहा कि 75 नई एक्सप्रेस और सवारी गाडियां अगले वित्त वर्ष के दौरान चलाई जाएंगी। 12वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान  हेरिटेज रेल लाइनों को छोड़कर बाकी सभी मीटर गेज और नैरो गेज लाइनों को ब्राड गेज में तब्दील कर दिया जाएगा।
   
उन्होंने कहा कि भारतीय रेल को नेपाल और बांग्लादेश से जोडा जाएगा। सभी गरीब रथ ट्रेनों में विकलांगों के लिए एक विशेष वातानुकूलित कोच आरक्षित रखा जाएगा। अगले साल 2500 कोचों में बायो शौचालय लगाये जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:75 एक्सप्रेस व 21 पैसेंजर ट्रेनों की सौगात