DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सौ से अधिक जाट प्रदर्शनकारी रिहा, आंदोलन धीमा

सौ से अधिक जाट प्रदर्शनकारी रिहा, आंदोलन धीमा

ओबीसी कोटा के तहत नौकरी में आरक्षण की मांग को लेकर हरियाणा के हिसार में चल रहे जाट आंदोलन के दौरान गिरफ्तार 100 से अधिक लोगों को रिहा कर दिया जिसके बाद आंदोलन की गति कमजोर पड़ने के संकेत मिलने लगे।

बहरहाल, समुदाय के नेताओं ने कहा कि अभी तक उन्होंने आंदोलन वापस नहीं लिया है और जल्द ही अंतिम निर्णय किया जाएगा। हिसार और टोहाना में अदालत ने क्रमश: 74 और 29 जाट प्रदर्शनकारियों को रिहा करने का आदेश दिया। करीब तीन हफ्ते से ज्यादा चले आंदोलन के दौरान उन पर हिंसा और आगजनी में शामिल होने के आरोप थे।

अदालत ने पुलिस की याचिका को स्वीकार कर लिया कि उनके खिलाफ उसके पास पर्याप्त सबूत नहीं हैं और इसके बाद आज शाम को जाट आरक्षण समिति के नेता धर्मपाल छोट (राज्य इकाई के अध्यक्ष) सहित 103 लोगों को केंद्रीय कारागार से रिहा कर दिया गया।

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि बहरहाल आरोपियों के खिलाफ पुलिस जांच और साक्ष्य जुटाने का काम जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि मामले वापस नहीं लिए गए हैं। कई इलाकों से आज सड़क जाम हटा लिया गया लेकिन दोपहर में फिर से सड़क जाम शुरू हो गया।

जेल के बाहर धर्मपाल छोट ने संवाददाताओं से कहा कि आरक्षण समिति ने आंदोलन वापस नहीं लिया है और संदीप के अंतिम संस्कार के बाद मायर पंचायत में अंतिम फैसला किया जाएगा। छह मार्च को प्रदर्शनकारियों को त्वरित कार्य बल के जवानों के बीच संघर्ष में उसकी मौत हो गई थी। इस बीच मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा ने चंडीगढ़ में व्यस्तता के कारण प्रदर्शनकारियों से मुलाकात नहीं की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सौ से अधिक जाट प्रदर्शनकारी रिहा, आंदोलन धीमा