DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चांद से आगे

चंद्रयान-1 का मून इंपैक्ट प्रोब चंद्रमा की सतह पर उतरा, इस घटना का या भारतीय चंद्र मिशन का सिर्फ प्रतीकात्मक महत्व नहीं है। यह ध्यान देने की बात है कि पहली बार भारत ने कोई अंतरिक्ष यान पृथ्वी की कक्षा के बाहर भेजा है और कम से कम अब तक यह प्रयोग पूरी तरह सफल रहा है। इसके बाद चंद्रमा पर मनुष्यरहित यान भेजने की योजना है और उसके बाद मंगल पर अंतरिक्ष यान भेजा जाना है। जाहिर है कि भविष्य में अंतरिक्ष विज्ञान में भारत का बहुत कुछ करने का इरादा है और चंद्रयान-1 की सफलता इस दिशा में बहुत महत्वपूर्ण है। महत्वूपर्ण यह भी है कि इस मिशन में भारत ने खर्च बहुत कम किया है। जब आप किसी योजना को कम खर्च में पूरा करने की कोशिश करते हैं तब आप इस कमी को बौद्धिक संसाधनों से पूरा करते हैं यानी योजना और उसके कार्यान्वयन की कुशलता को बहुत ज्यादा महत्व देते हैं। भारत ने यह योजना करीब 500 करोड़ रुपए में पूरी की है जो कि नासा या ऐसी दूसरी अंतरिक्ष एजेंसियों के मुकाबले सिर्फ दसवां हिस्सा है। इस योजना में किफायत और कार्यकुशलता की वजह से तकनीकी जानकारी और कौशल में तो क्षाफा हुआ ही है, इसका एक अर्थ यह भी है कि भारत भविष्य में इससे आर्थिक लाभ भी उठा सकता है। अब भी चंद्रयान-1 के साथ जो खोजी उपकरण भेजे गए हैं उनमें से कई दूसर देशों की अंतरिक्ष एजेंसियों के हैं, प्रसंगवश यहां यह बताना जरूरी है कि मून इंपैक्ट प्रोब पूरी तरह भारत में ही बनाया गया है। चंद्रमा पर इसके बाद मनुष्य सहित यान भेजा जाएगा, इस बात का प्रचार बहुत होगा लेकिन असली रोमांचकारी सफर मंगल ग्रह का होगा। मंगल पर भेजे जाने वाले अंतरिक्ष यानों में कम ही सफलतापूर्वक अपना मिशन पूरा कर पाते हैं, इसलिए मनुष्य के लिए जानकारी और तकनीकी कौशल पर असली बड़ी चुनौती मंगल तक पहुंचने की सफलता की दर को बढ़ाना है। भारत का इस यात्रा में शरीक होना इसलिए दिलचस्प होगा क्योंकि इसरो के वैज्ञानिकों को कम से कम साधनों के जरिए अपनी सीमाओं को लांघने में महारत हासिल है और इसरो की विफलता की दर भी कम है। भले ही ऐसे कार्यक्रमों का फौरी व्यावहारिक महत्व न दिखे, मनुष्य के विकास में ऐसी कोशिशें दूरगामी असर रखती हैं, जो चंद्रमा को छूने का माद्दा रखते हैं। इस धरती पर भी किसी बड़ी से बड़ी चुनौती का सामना कर सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चांद से आगे