DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गोवा में रचा भाजपा ने इतिहास

गोवा में रचा भाजपा ने इतिहास

गोवा में भाजपा ने 21 सीटें हासिल कर राज्य के चुनावी इतिहास में अपनी सबसे बड़ी जीत दर्ज की और राज्य में पहली बार अपने दम पर सरकार बनाने जा रही है। इससे पूर्व 1999 में कांग्रेस ने 21 सीटें प्राप्त कर अपने दम पर सरकार बनाई थी।

सत्ता विरोधी लहर पर सवार भाजपा-महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी गठबंधन ने इस बार कांग्रेस-राकांपा गठबंधन को गोवा की सत्ता से बेदखल दिया। 40 सदस्यीय विधान सभा में भाजपा को 21 सीटों पर जीत हासिल हुई, जबकि सहयोगी महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी को तीन सीटें मिली। इस गठबंधन ने 24 सीटों के साथ बहुमत हासिल कर लिया। गठबंधन को मिली सीटों में से करीब 50 फीसदी पर नए चेहरों ने कामयाबी हासिल की है। बदलाव की बयार इस बार इतनी जबर्दस्त थी कि 19 नए चेहरों को जनता ने अपनी नुमाइंदगी के लिए चुना।

भाजपा को 2007 के विधान सभा चुनाव में 14 सीटें मिली थीं जबकि एमजीपी को दो सीटें मिली थीं। कांग्रेस को पिछली दफा 16 सीटें मिली थीं लेकिन इस बार पार्टी सिर्फ नौ सीटें जीतने में कामयाब रही। राकांपा को इस बार एक भी सीट नहीं मिली जबकि 2007 में उसे तीन सीट मिली थी।

राज्य में साल 2002 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 17 सीटों को जीत दर्ज की थी वहीं कांग्रेस को 16 सीटें प्राप्त हुई थी जबकि राकांपा को एक सीट पर संतोष करना पड़ा था।

गोवा में 1999 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को 10 सीटें मिली थी, वहीं कांग्रेस ने 21 सीटें हासिल की थी और अपने दम पर सरकार बनाई थी।
 
वर्ष 1994 के चुनाव में भाजपा को चार सीटों पर कामयाबी मिली थी जबकि कांग्रेस को 18 सीटों पर जीत हासिल हुई थी। वहीं 1989 के विधानसभा चुनाव में भाजपा अपना खाता नहीं खोल पायी थी जबकि कांग्रेस के खाते में 20 सीटें आई थी।

साल 1984 के विधानसभा चुनाव में भाजपा एक सीट भी नहीं जीत सकी थी, वहीं कांग्रेस ने 18 सीटें हासिल की थी। गोवा में 1980 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस आई को छह सीटें मिली थी, वहीं इंडियन नेशनल कांग्रेस यू को 20 सीटें मिली थी। 1977 में कांग्रेस को 10 सीटें प्राप्त हुई थी जबकि 1972 में कांग्रेस को एक सीट से संतोष करना पड़ा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गोवा में रचा भाजपा ने इतिहास